गन्दगी देखकर चौंकिए मत जनाब, ये अस्पताल ही है

गन्दगी देखकर चौंकिए मत जनाब, ये अस्पताल ही हैअस्पताल परिसर में फ़ैली गन्दगी।

अनिल चौधरी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

पीलीभीत। जहां एक ओर प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान पर केंद्र और प्रदेश सरकारें पूरी तत्परता से कार्य कर रही हैं, वहीं जिला संयुक्त चिकित्सालय पीलीभीत इस अभियान में पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। पुरुष वार्ड के शौचालय बदहाली से गुजर रहा है। पानी की टोटी भी ख़राब है।

इलाज कराने आए माधोटांडा निवासी धर्ममाल (50 वर्ष) ने बताया, “अस्पताल में हर तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ है। यहां पर रोगियों के साथ आने वाले तीमारदारों को भी बीमार होने का डर बना रहता है। वहीं निरंजनकुंज निवासी सुरेंद्र (42 वर्ष) का कहना है, “अस्पताल के अंदर सबसे ज्यादा गंदगी फैली रहती है। यहां पर आकर और बीमार हो जाने का डर बना रहता है।”

ये भी पढ़ें- स्मार्टफोन से मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े खतरों का बढ़ रहा जोखिम

सीएमएस आरसी शर्मा बताते हैं, “मई 2017 को प्राइम क्लीन एजेंसी लखनऊ को सफाई का ठेका तय हुआ है जो पूरी तरह से अस्पताल की सफाई का समस्त कार्य नहीं संभाल पाई है। धीरे-धीरे कुछ समय में यह एजेंसी सफाई की समस्त जिम्मेदारी निभाना शुरू कर देगी और सफाई व्यवस्था ठीक हो जाएगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top