सैकड़ों मौतों के बाद डेंगू को यूपी सरकार ने महामारी घोषित किया

सैकड़ों मौतों के बाद डेंगू को यूपी सरकार ने महामारी घोषित कियाडेंगू का डंक

लखनऊ (भाषा)। डेंगू की रोकथाम में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से उठाये गये कदमों पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय की नाराजगी के बीच राज्य सरकार ने डेंगू को महामारी घोषित कर दिया है।

प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) अरुण कुमार सिन्हा ने आज ‘भाषा' को बताया कि डेंगू को राज्य सरकार ने महामारी घोषित कर दिया है। राज्य मंत्रिपरिषद ने इस आशय का फैसला किया। इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गयी है। अब निजी अस्पतालों को डेंगू को लेकर प्रतिदिन सरकार के अधिकारियों को जानकारी देनी होगी।

उच्च न्यायालय ने सोमवार को राज्य सरकार से पूछा था कि डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए क्या रणनीति अपनायी गयी है। न्यायमूर्ति वी के शुक्ल और न्यायमूर्ति एम सी त्रिपाठी की पीठ ने राज्य के प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) से जानकारी मांगी थी कि डेंगू और ऐसी अन्य बीमारियों से कितने लोग प्रभावित हैं, जिन्हें सरकारी या निजी अस्पतालों में भर्ती किया जा सकता है।

राजधानी लखनऊ में ही 800 से अधिक लोग ऐसी बीमारियों से प्रभावित हैं। अन्य जगहों के आंकड़े तत्काल उपलब्ध नहीं हो पाये। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एसएनएस यादव ने कहा कि मौसम में बदलाव हो रहा है और ठंड बढ़ने के साथ ही डेंगू के मामले धीरे-धीरे घटेंगे क्योंकि डेंगू का कारक एडीस मच्छर ठंड में जीवित नहीं रह पाता। उन्होंने बताया कि प्रदूषण बढने और वातावरण में धुंध के कारण लोगों को सावधान रहना चाहिए क्योंकि प्रदूषण बैक्टरियां जनित बीमारियों को बढ़ाने में मददगार है।

Share it
Share it
Share it
Top