कबड्डी विश्व कप सेमीफाइनल में थाईलैंड से भिड़ेगा भारत  

कबड्डी विश्व कप सेमीफाइनल में थाईलैंड से भिड़ेगा भारत  अहमदाबाद में कबड्डी विश्व कप के राऊंड मुकाबले में थाईलैंड का खिलाड़ी, जापानी खिलाड़ी को सीमारेखा छूने से रोकने की कोशिश करता हूं। 

अहमदाबाद (आईएएनएस)| कबड्डी विश्व कप-2016 के ग्रुप बी के सेमीफाइनल में थाईलैंड से भारत भिड़ेगा।

थाईलैंड ने जापान को हराया

थाईलैंड ने बुधवार को रोमांचक मुकाबले में जीत हासिल करते हुए कबड्डी विश्व कप-2016 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। अब थाई टीम अब अंतिम-4 दौर में भारत से भिड़ेगी। थाईलैंड ने अपने आखिरी ग्रुप मैच में अंतिम समय में हासिल अंकों के बल पर जापान को 37-33 के अंतर से हराकर ग्रुप-बी में पहला स्थान हासिल किया। जापान की हार के साथ केन्या के भी सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदें खत्म हो गईं।

21 अक्टूबर के सेमीफाइनल में ईरान से दक्षिण कोरिया का सामना

अब 21 अक्टूबर को होने वाले सेमीफाइनल मैच में ग्रुप-ए में शीर्ष पर रहे दक्षिण कोरिया का सामना ईरान से होगा, जो ग्रुप-बी में दूसरे स्थान पर रहा।

जापानी टीम ने इस मैच से एक अंक हासिल किया। अगर वे यह मैच 30 या अधिक अंकों के अंतर से जीत लेते तो सेमीफाइनल में पहुंच जाते, लेकिन अगर उसे सात या अधिक अंकों से जीत मिलती तो केन्या का रास्ता साफ हो जाता।

बेहतरीन खेल दिखाया

इस मैच की महत्ता को समझते हुए दो पूर्वी एशियाई देशों ने अपना बेहतरीन खेल दिखाया। यह विश्व कप के इस संस्करण में प्रतिस्पर्धा के लिहाज से सबसे कठिन मैच साबित हुआ।

मुकाबले की शुरुआत बराबरी के साथ हुई और हाफ टाइम तक दोनों टीमें 17-17 की बराबरी पर रहीं। उस समय तक थाईलैंड के लिए सबसे अधिक अंक कप्तान खोमसान थोंगखाम (6) ने जुटाए थे। पीरादान जानताजाम को चार अंक मिले थे। जापान की ओर से माकातो सावाजू ने पांच अंक बनाए लिए थे।

थाईलैंड ने नौ रेड अंक बनाए जबकि जापान के सात अंक थे। इसी तरह जापान ने आठ टैकल अंक बनाए थे जबकि थाईलैंड ने पांच अंक थे। थाईलैंड को तीन अतिरिक्त अंक मिले थे जबकि जापान ने दो अंक ऑल आउट के जुटाए थे।

दूसरे हाफ में एक बार फिर दोनों टीमों के बीच जोरदार टक्कर देखी गई। जापानी टीम ने टैकल से अंक बटोरने की रणनीति जारी रखी जबकि थाईलैंड ने रेड को प्राथमिकता दी।

पूरे मैच में थाईलैंड ने 18 रेड अंक बनाए जबकि जापान को 12 अंक मिले। टैकल में जापान की टीम आगे रही और 11 के मुकाबले 17 अंक बनाए।

दोनों टीमों को आलआउट के लिए दो-दो अंक मिले लेकिन अतिरिक्त अंकों के मामले में थाई टीम ने बाजी मार ली और यही उसकी जीत का अहम कारण बना। थाई टीम ने छह अतिरिक्त अंक हासिल किए जबकि जापान को दो ही अंक मिल सके।

अंतिम रूप से थाई कप्तान ने 10 अंक बनाए जबकि सांति बुनचोयेत को पांच अंक मिले। जापान की ओर से ताकानो ने सात और कोनो ने आठ अंक बनाए।




More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top