ChampionsTrophy 2017: हाईवोल्टेज मैच में भारत के हाथों पाकिस्तान की हार के ये हैं कारण

ChampionsTrophy 2017: हाईवोल्टेज मैच में भारत के हाथों पाकिस्तान की हार के ये हैं कारणमैच जीत के बाद भारत पकिस्तान के खिलाड़ियों से हाथ मिलाते हुए।

नई दिल्‍ली। बारिश के कारण बर्मिंघम के एजबेस्टन क्रिकेट मैदान पर भारत और पाकिस्तान के बीच जिस रोमांचक मैच की उम्मीद की जा रही थी वह नहीं देखने को मिला। भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच हमेशा रोमांचक होता है लेकिन रविवार को खेला गया मैच एकतरफा था।

पाकिस्तानी पारी के 20 ओवर के बाद लगभग तय हो गया था कि पाकिस्तान हार रहा है और वही हुआ। पाकिस्तान इस मैच को 124 रन से हार गया। बारिश से प्रभावित इस मैच को 50 ओवर से घटाकर 48 ओवर कर दिया गया था। टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने निर्धारित 48 ओवरों में तीन विकेट पर 319 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था। डकवर्थ-लुइस नियम के तहत पाकिस्तान को 41 ओवर में 289 रन बनाने थे लेकिन पाकिस्तान के बल्लेबाज भारतीय गेंदबाज़ों के सामने घुटने टेकते नज़र आए. पाकिस्तान निर्धारित 41 ओवरों में सिर्फ 164 रन ही बना पाया।

भारत के बल्लेबाज पकिस्तानी गेंदबाजों पर पड़े भारी

पाकिस्तानी गेंदबाज़ों के पास ज्यादा अनुभव नहीं था। सिर्फ वहाब रियाज को छोड़कर मौजूदा टीम के किसी भी गेंदबाज़ ने 50 से ज्यादा एकदिवसीय मैच नहीं खेले हैं, लेकिन अनुभवी होने के बावजूद भी वहाब रियाज ने 8.4 ओवरों में 87 रन देकर एक नया रिकॉर्ड कायम किया। चैंपियंस ट्रॉफी की एक पारी में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत रन देने के मामले में रियाज़ पहले स्थान पर पहुंच गए। मोहम्मद आमिर ने सिर्फ 32 एकदिवसीय मैच खेले हैं। आमिर ने सबसे अच्छी गेंदबाज़ी करते हुए 8.1 ओवरों में सिर्फ 32 रन दिए। अपना 17वां मैच खेल रहे हसन अली ने दस ओवरों में 70 रन दिए। 22वां मैच खेल रहे इमाद वसीम ने 9.1 ओवरों में 66 रन दिए और महज दूसरा एकदिवसीय मैच खेल रहे शादाब खान ने 10 ओवर में 52 रन दिए।

रनों की गति न रोक पाना पाकिस्तानी टीम को भारी पड़ा

पाकिस्तान के गेंदबाज़ों ने शुरुआत में अच्छी गेंदबाज़ी की। पहले 15 ओवर में भारत ने सिर्फ 66 रन बनाए। 30 ओवरों के बाद भारत का स्कोर एक विकेट पर 162 रन था, लेकिन आखिर 18 ओवरों में पाकिस्तान के गेंदबाज़ों ने खूब रन लुटाए। आखिरी 18 ओवरों में पाकिस्तान के गेंदबाज़ों ने 157 रन दिए। पहले विकेट के रूप में 65 गेंदों पर 68 रन बनाकर आउट हुए शिखर धवन ने पहली 40 गेंदों में 34 रन बनाए जबकि आखिरी 25 गेंदों में 34 रन बनाए। विराट कोहली ने शुरुआती 40 गेंदों में 32 रन बनाए और आखिरी 28 गेंदों में 47 रन बनाए। विराट कोहली 68 गेंदों का सामना करते हुए 81 रन पर नाबाद रहे। युवराज सिंह तेज खेलते हुए 32 गेंदों पर 53 रन बनाकर आउट हुए। हार्दिक पांड्या ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 6 गेंदों पर 20 रन बना डाले। चौथे विकेट के लिए विराट कोहली और हार्दिक पांड्या के बीच सिर्फ 10 गेंदों पर 34 रन की साझेदारी हुई। भारत की तरफ से धीमा खेलते हुए रोहित ने 119 गेंदों पर 91 रन बनाए।

भारतीय गेंदबाज़ों के सामने पाकिस्तानी बल्लेबाज टिक नहीं पाए

जहां पाकिस्तानी गेंदबाज़ों ने ख़राब गेंदबाज़ी करते हुए ज्यादा से ज्यादा रन दिए वहीं भारत के अनुभवी गेंदबाज़ों ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए पाकिस्तान के बल्लेबाज़ों को घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया। भारत की तरफ से उमेश यादव ने सबसे शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 7.4 ओवर में 30 रन देकर तीन विकेट लिए। भुवनेश्वर कुमार ने पांच ओवर में 23 रन देकर एक विकेट लिया। जसप्रीत बुमराह ने पांच ओवरों में सिर्फ 23 रन दिए। रवींद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या ने 8-8 ओवरों में 43-43 रन दिए। पाकिस्तान की तरफ से अज़हर अली ने 65 गेंदों का सामना करते हुए सबसे ज्यादा 50 रन बनाए। सिर्फ शोएब मलिक को छोड़कर पाकिस्तान का कोई भी बल्लेबाज 100 से अधिक स्ट्राइक रेट से रन नहीं बना पाया। मलिक ने सिर्फ 9 गेंदों पर 15 रन बनाए।

बारिश की वजह से पाकिस्तान के ऊपर बढ़ा दबाव

मैच में बार-बार बारिश होने की वजह से पाकिस्तान के ऊपर दबाव बढ़ता चला गया। बारिश की वजह से भारत को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। 50 ओवरों की जगह भारतीय टीम 48 ओवर खेली। बारिश की वजह से डकवर्थ-लुईस नियम लागू हुआ जो पाकिस्तान के खिलाफ गया। डकवर्थ-लुईस नियम के तहत पाकिस्तान को 48 ओवरों में 325 रन का टारगेट दिया गया। फिर बीच में बारिश होने की वजह से 41 ओवरों में 289 का लक्ष्य दिया गया। यानी पाकिस्तान को अब 7.4 के रन रेट के हिसाब से रन बनाने थे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top