गोंडा में राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिताएं 23 अक्टूबर से पर आधार कार्ड न होने पर हिस्सा नहीं ले पाएंगे खिलाड़ी  

गोंडा में राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिताएं 23 अक्टूबर से पर आधार कार्ड न होने पर हिस्सा नहीं ले पाएंगे खिलाड़ी  ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक रियो ओलंपिक के बाद अब 23 अक्तूबर से उत्तर प्रदेश के गोंडा में होने वाली राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप में भाग लेगी।

गोंडा (उत्तर प्रदेश) (आईएएनएस)| पुरुष और महिलाओं की राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप का आयोजन 23 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। गुरुवार को एक बयान जारी कर इस बात की घोषणा की गई।

यह पुरुषों की 61वीं और महिलाओं की 19वीं सीनियर फ्रीस्टाइल ग्रीको रोमन स्टाइल राष्ट्रीय प्रतियोगिता है। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक रियो ओलंपिक के बाद अब 23 अक्तूबर से उत्तर प्रदेश के गोंडा में होने वाली राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप में भाग लेगी।

कुल 650 पहलवान और 175 अधिकारी इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे। भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के सबंद्ध संघ भी इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे।

रियो ओलम्पिक-2016 में कांस्य पदक जीतने वाली महिला पहलवान साक्षी मलिक इस टूर्नामेंट में 59 किलोग्राम भारवर्ग में रेलवे का प्रतिनिधित्व करेंगी।

उनके अलावा अमित दहिया (57 किलोग्राम भारवर्ग फ्री स्टाइल), मौसम खत्री (97 किलोग्राम भारवर्ग) हरियाणा का प्रतिनिधित्व करेंगे। बजरंग (65 किलोग्राम), सत्यव्रत काडियान (97 किलोग्राम) धर्मेद्र दलाल (130 किलोग्राम) रेलवे का प्रतिनिधित्व करेंगे।

इस साल से डब्ल्यूएफआई ने नया नियम बनाया है जिसके तहत आधार कार्ड/वोटर कार्ड न होने पर खिलाड़ी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top