भारत इंग्लैंड तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन भारत जीत से सिर्फ 70 रन दूर  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   29 Nov 2016 3:04 PM GMT

भारत इंग्लैंड तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन भारत जीत से सिर्फ 70 रन दूर  भारत के क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली।

मोहाली (पंजाब) (आईएएनएस)| मोहाली के पंजाब क्रिकेट संघ स्टेडियम में भारत इंग्लैंड तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन मंगलवार को इंग्लैंड को दूसरी पारी में 236 रनों पर ही समेट दी। इसी के साथ मेजबानों को जीत के लिए 103 रनों का लक्ष्य मिला है। मामूली से लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम ने चायकाल तक एक विकेट के नुकसान पर 33 रन बना लिए हैं। मुरली विजय बिना खाता खोले क्रिस वोक्स का शिकार बने।

पार्थिव पटेल (नाबाद 16) और चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 13) चायकाल तक क्रिज पर डटे हुए हैं। मेजबानों को अब जीत के लिए महज 70 रनों की आवश्यकता है जबकि उसके नौ विकेट शेष हैं।इंग्लैंड ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 78 रनों पर अपने चार विकेट गंवा दिए थे। चौथे दिन अपने सोमवार के स्कोर से आगे खेलने उतरी मेहमान टीम ने दिन के पहले सत्र में अपने तीन विकेट गंवाए।

गारेथ बैटी (0), जोस बटलर (18) और जोए रूट (78) दिन के पहले सत्र में पवेलियन लौटे। बैटी और बटलर को क्रमश: रवींद्र जडेजा और जयंत यादव ने पवेलियन भेजा। एक छोर संभालकर खड़े जोए रूट (78) ने इसके बाद हसीब हमीद (नाबाद 59) के साथ सातवें विकेट के लिए 45 रनों की साझेदारी कर टीम को स्थिरता देने की भरपूर कोशिश की, लेकिन वे इस साझेदारी को पहले सत्र से आगे ले जाने में असफल रहे।

जडेजा ने पहले सत्र की समाप्ति से ठीक पहले 152 के कुल योग पर रूट की संघर्षभरी पारी पर विराम लगाया। रूट का कैच अजिंक्य रहाणे ने लपका। रूट ने 179 गेंदों की धैर्यभरी पारी में छह चौके लगाए।

आमतौर पर सलामी बल्लेबाजी करने वाले हमीद उंगली में चोट के कारण इस पारी में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे। उन्होंने तीन महत्वपूर्ण साझेदारियां कर टीम को बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

रूट के बाद उन्होंने दूसरे सत्र में क्रिस वोक्स (30) के साथ आठवें विकेट के लिए 43 रनों की साझेदारी की। लेकिन मोहम्मद समी ने 195 के स्कोर पर वोक्स आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा।

वोक्स के जाने के बाद समी ने आदिल राशीद को भी बिना खाता खोले पवेलियन लौटाया। जेम्स एंडरसन (5) के रूप में इंग्लैंड का आखिरी विकेट गिरा। वह रन आउट हुए। नाबाद रहने वाले हमीद ने 156 गेंदें खेलीं और छह चौके एवं एक छक्का लगाया और एंडरसन के साथ दसवें विकेट के लिए 41 रनों की साझेदारी की।

भारत की तरफ से रविचन्द्रन अश्विन ने तीन विकेट लिए। जडेजा, जयंत यादव और समी को दो-दो विकेट मिले।

इंग्लैंड ने पहली पारी में जॉनी बेयर्सटो (89) और बटलर (43) की बदौलत मात्र 283 रन बनाए थे। इंग्लैंड की पारी को सस्ते में समेटने में भारतीय गेंदबाजों का संयुक्त प्रयास था। मोहम्मद समी ने सर्वाधिक तीन, जबकि उमेश यादव, जयंद और जडेजा ने दो-दो विकेट लिए थे। अश्विन को एक विकेट मिला था।

इसके बाद भारत ने निचले क्रम पर जडेजा (90), अश्विन (72) और जयंत (55) के शानदार अर्धशतकों की बदौलत पहली पारी में 417 रन बनाए और इंग्लैंड पर 134 रनों की बढ़त हासिल की।

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जबकि सातवें क्रम से नीचे के तीन-तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक लगाए। इससे पहले आठ वर्ष के लंबे अंतराल के बाद टेस्ट टीम में वापसी करने वाले पार्थिव पटेल (42), चेतेश्वर पुजारा और कप्तान विराट कोहली (62) ने भी अहम पारियां खेलीं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top