आईएसएल सेमीफाइनल में मुंबई और कोलकाता में जंग, कौन पहुंचेगा फाइनल में 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   13 Dec 2016 8:04 PM GMT

आईएसएल सेमीफाइनल में मुंबई और कोलकाता में जंग, कौन पहुंचेगा फाइनल में हीरो इंडियन सुपर लीग।

मुंबई (आईएएनएस)| हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पहले सेमीफाइनल के पहले चरण में एटलेटिको दे कोलकाता के हाथों हार के बाद मुंबई सिटी एफसी की नजरें मुंबई फुटबाल एरेना में मंगलवार को होने वाले दूसरे चरण के मुकाबले में जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाने पर लगी हैं। उसके लिए हालांकि यह मुकाबला आसान नहीं होगा क्योंकि इस मैच में मुंबई अपने स्टार खिलाड़ी डिएगो फोर्लान के बिना उतरेगी। कोलाकाता ने पहले मैच में अपने घर में मुंबई को 3-2 से हरा दिया था।

मुम्बई के मार्की खिलाड़ी उरुग्वे के स्ट्राइकर फोर्लान को उस मैच में दो पीले कार्ड मिले थे जिसके कारण उन्हें मैदान से बाहर भेज दिया गया और इसी कारण वह पहले सेमीफाइनल के दूसरे चरण के मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे।

फोर्लान के पांच में से चार गोल मुंबई फुटबाल एरेना पर आए हैं और मुंबई वो मैच कभी भी नहीं जीती है, जिसमें फोर्लान को बाहर बैठना पड़ा है। फोर्लान के गोल ही नहीं हैं जिनकी कमी मुंबई को खलेगी। साथ ही उसे फोर्लान के बेहतरीन खेल की कमी भी खलेगी क्योंकि वह गोल करने में भी खिलाड़ियों की मदद करते थे। पहले चरण में हुए दो गोल उनकी ही बदौलत हुए थे।

मुंबई का प्रदर्शन इस लीग में खराब नहीं रहा है। उसकी रक्षापंक्ति ने हमेशा ही शानदार खेल दिखाया है। उसने अपने घर में सिर्फ तीन गोल ही खाए हैं जोकि किसी भी टीम द्वारा अपने घर में सबसे कम हैं। इसके अलावा वह अपने घर में चार क्लीन शीट करने वाली इकलौती टीम है।

दूसरी तरफ, कोलकाता इकलौती ऐसी टीम है, जिसने लीग के तीनों सीजन के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। पिछले सीजन में वह सेमीफाइनल में चेन्नयन एफसी से हार गई थी और अब उसकी नजरें इसी हार का बदला लेने पर टिकी हुई हैं।

कोलकाता इस मैच में अगर ड्रॉ भी खेलता है तो वह फाइनल में जगह बना लेगा, लेकिन टीम के कोच जोस मोलिनो का कहना है कि वह रक्षात्मक खेल नहीं खेलेंगे।

कोलकाता ने कभी भी अपने घर के बाहर सेमीफाइनल में गोल नहीं किया है लेकिन इसके बाद भी उन्हें इस बात का भरोसा है कि अगर वह ड्रॉ भी खेलती है तो फाइनल में पहुंच जाएगी। रोचक बात है कि कोलकाता ने अपने घर में सिर्फ आठ अंक ही अर्जित किए हैं जो लीग में किसी भी सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीम द्वारा अपने घर में लिए गए सबसे कम अंक हैं।

लेकिन इसका एक और अर्थ यह है कि वह अपने घर से बाहर शानदार प्रदर्शन करती आई है और यही उसका एक और मजबूत पक्ष भी है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top