दिल्ली हाफ मैराथन 2016 कीनिया के इलियुद किपचोगे और इथोपिया की वोर्कनेश देगेफा बने चैम्पियन

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   20 Nov 2016 12:12 PM GMT

दिल्ली हाफ मैराथन 2016 कीनिया के इलियुद किपचोगे और इथोपिया की वोर्कनेश देगेफा बने चैम्पियनपुरुष वर्ग में कीनिया के इलियुद किपचोगे ने जीती दिल्ली हाफ मैराथन 2016 ।

नई दिल्ली (भाषा)। दिल्ली हाफ मैराथन 2016 में आज पुरुष वर्ग में गत ओलंपिक मैराथन चैम्पियन कीनिया के इलियुद किपचोगे ने जबकि महिला वर्ग में इथोपिया की वोर्कनेश देगेफा ने खिताब अपने नाम किया।

सर्वकालिक महान मैराथन खिलाड़ियों में शामिल इलियुद किपचोगे ने 59 मिनट और 44 सेकेंड में 21.097 किमी की दूरी पूरी की और जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में संपन्न हुई हाफ मैराथन जीता। किपचोगे ने इथोपिया के यिगरेम देमेलाश और कीनिया के अगस्तीन चोगे को पछाड़ा लेकिन कोर्स रिकार्ड नहीं बना पाए। देमेलाश ने अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 59 मिनट और 48 सेकेंड का समय लिया जबकि चोगे ने 60 मिनट और एक सेकेंड में दौड़ पूरी की।

अगस्त में रियो ओलंपिक में स्वर्ण पदक के बाद यहां पहली प्रतिस्पर्धी दौड़ में हिस्सा ले रहे किपचोगे हालांकि 2014 में इथोपिया के गाये एडोला के बनाए 59 मिनट और छह सेकेंड के रिकार्ड को नहीं तोड़ पाए। उनका निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 59 मिनट और 25 सेकेंड है।

महिला एलीट वर्ग में वोर्कनेश देगेफा ने खिताब जीता

महिला एलीट वर्ग में देगेफा ने एक घंटे सात मिनट और 42 सेकेंड के समय के साथ खिताब जीता। इथोपिया की ही अबादेल येसानेह (एक घंटा सात मिनट और 52 सेकेंड) दूसरे जबकि कीनिया की हीलाह किप्रोप (एक घंटा आठ मिनट और 11 सेकेंड) तीसरे स्थान पर रही। पुरुष और महिला एलीट वर्ग के विजेताओं में प्रत्येक को 27000 डालर की इनामी राशि मिली।

भारतीय पुरुष धावकों में जी लक्ष्मणन रहे शीर्ष पर

भारतीय पुरुष धावकों में 2013 के चैम्पियन जी लक्ष्मणन एक घंटे चार मिनट और 34 सेकेंड के समय के साथ शीर्ष पर रहे। मोहम्मद यूनुस (एक घंटा चार मिनट और 38 सेकेंड) ने दूसरा जबकि मान सिंह (एक घंटा चार मिनट और 40 सेकेंड) ने तीसरा स्थान हासिल किया।

भारतीय महिलाओं में मोनिका अथारे रही शीर्ष पर

भारतीय महिलाओं में मोनिका अथारे एक घंटे 15 मिनट और 34 सेकेंड के निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ शीर्ष पर रही। संजीवनी यादव (एक घंटा 15 मिनट और 35 सेकेंड) दूसरे जबकि प्रबल दावेदार स्वाति गधावे (एक घंटा 17 मिनट और 43 सेकेंड) तीसरे स्थान पर रही।

वह दूसरी बार भारत आकर खुश हैं, इससे पहले उन्होंने 2010 दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में 5000 मीटर रेस में रजत पदक जीता था। मैं भारत आकर खुश हूं और मैं यहां अनुभवी धावक के रूप में आया हूं। परिस्थितियां अच्छी थी। मैं कोर्स रिकार्ड नहीं तोड़ पाया लेकिन समय को लेकर कोई समस्या नहीं है।
इलियुद किपचोगे कीनिया के महान धावक

खेल मंत्री विजय गोयल और भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के अध्यक्ष और आईएएएफ परिषद के सदस्य आदिले सुमारिवाला ने स्पर्धाओं को हरी झंडी दिखाई। प्यूमा द्वारा भारत लाए गए 100 मीटर के पूर्व विश्व रिकार्ड धारक असाफा पावेल भी इस दौरान धावकों की हौसलाअफजाई के लिए मौजूद थे।

इस 270000 डालर इनामी स्पर्धा में 12000 से अधिक धावकों ने एलीट हाफ मैराथन, लगभग 19000 प्रतिभागियों ने ग्रेट दिल्ली रन (छह किमी), लगभग 1000 प्रतिभागियों ने सीनियर सिटीजन रन (चार किमी) और लगभग 500 प्रतिभागियों ने चैम्पियंस विद डिसेबिलिटी (चार किमी) में हिस्सा लिया। इस तरह से दौड़ में लगभग 34000 प्रतिभागियों ने शिरकत की।




More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top