सिंधु का बदला: ओलंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन को हराकर जीता पहला इंडिया ओपन सुपर सीरीज खिताब 

सिंधु का बदला: ओलंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन को हराकर जीता पहला इंडिया ओपन सुपर सीरीज खिताब कैरोलिना मारिन को 21-19 21-16 से हराया।

नई दिल्ली (भाषा)। रियो ओलंपिक की रजत पदकधारी पीवी सिंधू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन को 21-19 21-16 से हराकर अपना पहला इंडिया ओपन सुपर सीरीज खिताब जीता।

सिरीफोर्ट खेल परिसर में घरेलू दर्शकों के सामने तीसरी वरीय भारतीय ने फाइनल मुकाबले में शुरू से ही दबदबा बनाये रखा और स्पेन की खिलाड़ी को 46 मिनट में पराजित कर दिय। इस जीत से सिंधू और मारिन के बीच जीत का रिकार्ड 4-5 हो गया है। सिंधू ने पिछली बार मारिन को पिछले साल दुबई में बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज में हराया था। इससे पहले डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसने ने चीनी ताइपे के टिएन चेन चोउ को सीधे गेम में शिकस्त देकर पुरुष एकल खिताब पर कब्जा किया।

तीसरे वरीय एक्सेलसेन को चोउ को 21-13 21-10 से हराने में महज 36 मिनट लगे जिसके बाद उन्होंने अपना पहला इंडिया ओपन खिताब हासिल किया। सिंधू और मारिन के बीच फाइनल में सभी की दिलचस्पी थी, जो रियो ओलंपिक के फाइनल मैच का रिप्ले था। भारतीय स्टार शटलर ने बदला चुकाने वाले इस मुकाबले में लाजवाब प्रदर्शन किया और वह इस दौरान आत्मविश्वास से भरी दिखीं। आज के दिन सिंधू स्पेनिश खिलाड़ी से कहीं बेहतर थीं और वह सहजता से गेम में नियंत्रण बनाती दिखीं।

मारिन ने कई अनफोर्स्ड गलतियां की जबकि सिंधू के ड्राप्स और ताकतवर क्रास कोर्ट स्मैश ने स्पेनिश खिलाड़ी को मैच पर कब्जा नहीं करने दिया। दोनों ही गेम में सिंधू ने शुरू से ही बढ़त बनायी। शुरुआती गेम में सिंधू ने 6-1 से बढ़त बना ली थी लेकिन मारिन ने धीरे धीरे वापसी की। पहले छह अंकों के बाद दुनिया की दो शीर्ष खिलाड़ियों के बीच यह मुकाबला काफी करीबी हो गया। सिंधू ने ब्रेक से पहले 11-9 की बढ़त बना ली थी।

इसके बाद दिलचस्प मुकाबला जारी रहा, एक बार दोनों तब 16-16 से बराबरी पर आ गयी जब मारिन ने क्रास कोर्ट ड्राप शाट से शानदार रैली से अंक जुटाया। गेम में पहली बार मारिन ने 19-18 की मामूली बढ़त बनायी लेकिन सिंधू ने स्मैश लगाकर वापसी कर अपनी प्रतिद्वंद्वी को कोई मौका नहीं दिया जिससे स्कोर 19-19 की बराबरी पर पहुंच गया। भारतीय खिलाड़ी इसके बाद गेम प्वाइंट पर पहुंच गयी और उन्होंने स्मैश लगाकर इसे अपने नाम कर लिया।

दूसरे गेम में सिंधू ने यही लय जारी रखते हुए तेजी से अंक जुटाते हुए 4-0 की बढ़त बना ली। शुरुआती गेम की तरह ही मारिन ने धीरे से गेम में वापसी करते हुए इस अंतर को 6-7 कर दिया। लेकिन सिंधू आज अपनी प्रतिद्वंद्वी से कहीं आक्रामक थी, वह ब्रेक तक 11-9 की बढ़त हासिल करने में सफल रही और फिर अपना दबदबा कायम रखा। दर्शकों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए मारिन की एक और अनफोर्स्ड गलती से सिंधू गेम में 20-15 से मैच प्वाइंट पर पहुंची। इस स्पेनिश खिलाड़ी ने हालांकि एक मैच प्वाइंट बचाया लेकिन सिंधू ने अगले ही अंक पर दूसरा गेम अपने नाम कर खिताब हासिल कर लिया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top