बेटी मिताली को क्रिकेटर बनाने के लिए मां लीला राज ने छोड़ दी थी अपनी नौकरी

Vineet BajpaiVineet Bajpai   13 July 2017 11:24 AM GMT

बेटी मिताली को क्रिकेटर बनाने के लिए मां लीला राज ने छोड़ दी थी अपनी नौकरीमिताली को क्रिकेटर बनाने के लिए मां लीला राज ने छोड़ दी थी अपनी नौकरी।

लखनऊ। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने बुद्धवार को बीते बुद्धवार को वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट में 6000 रन पूरा करने वाली विश्व की पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं। लेकिन मिताली के आज यहां तक पहुंचने के लिए उनके साथ-साथ मिताली के माता-पिता ने भी कम मेहनत नहीं की है।

वनडे इंटरनैशनल क्रिकेट में सर्वाधिक रनों का रेकॉर्ड अपने नाम कर चुकी और भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज की बचपन में क्रिकेट नहीं बल्कि डांसर बनना चाहती थीं, जिसके लिए मिताली ने शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम भी सीखा था। लेकिन मिताली के पिता वैसे तो एयरफोर्स में ते लेकिन उससे पहले वो एक क्रिकेटर भी थे। मां लीला राज एक अधिकारी थी लेकिन इससे पहले वो भी क्रिकेटर थीं यही वजह थी कि वो चाहते थे कि उनकी बेटी क्रिकेट खेले।

ये भी पढ़ें : पूनम राउत का शानदार शतक, मिताली राज ने बनाया इतिहास, आस्ट्रेलिया को 227 रनों का लक्ष्य

मिताली के पिता दोराई राज ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा एक बार कहा था कि मिताली को देर तक सोने की आदत थी और हम चाहते थे कि वह सुबह जल्दी जग जाए। इसलिए मैं उसे सिकंदराबाद के ट्रेनिंग कैंप में लेकर जाने लगा। वहां मेरा बेटा भी क्रिकेट कोचिंग लेता था। वहीं, ज्योति प्रसाद ने मिताली की प्रतिभा को पहचाना और मुझसे कहा कि मुझे अपनी बेटी के क्रिकेट पर अधिक फोकस करना चाहिए क्योंकि उसमें बहुत प्रतिभा है।

मिताली की मां लीला राज ने बेटी की हर ख्वाहिश पूरी करने के लिए अपनी नौकरी भी छोड़ दी थी, ताकि वे क्रिकेट कोचिंग से आकर अपनी बेटी का खयाल रख सकें। और जब मिताली राज ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में 26 जून 1999 में पहली बार आयरलैंड के खिलाफ मैं खेला, जिसमें मिताली ने नाबाद 114 रन बनाए। उस वक्त वह शतक लगाने वाली सबसे युवा खिलाड़ी भी थीं।

मिताली राज।

ये भी पढ़ें : वनडे महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज बनीं मिताली राज, चार्लोट एडवर्डस का तोड़ा रिकार्ड

मिताली ने 2001-2002 में लखनऊ में इंग्लैंड के खिलाफ पहला टैस्ट मैच खेला। मिताली ने अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में आज तक का सर्वाधिक स्कोर 214 रन बना कर कीर्तिमान स्थापित किया है। यह इतिहास उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ खेलते हुए 2002 में बनाया। यह महिला क्रिकेट का सबसे अधिक रन रिकॉर्ड है।

2003 की क्रिकेट उपलब्धियों के लिए 22 वर्षीय मिताली राज को 21 सितम्बर, 2004 को 'अर्जुन पुरस्कार' से सम्मानित किया गया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top