नीम हकीम इलाज के नाम पर बांट रहे बीमारी

नीम हकीम इलाज के नाम पर बांट रहे बीमारीबागों में मरीजों को भर्ती करके इलाज करता नीम हकीम।

केके बाजपेयी /दीपिका रस्तोगी

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। तमाम प्रयासों के बावजूद झोलाछाप क्वैक (नीम हकीम) के विरुद्ध चलाई जाने वाली कार्यवाही की कवायद दम तोड़ती नजर आ रही है। हालात ये है कि क्वैक नागरिकों की जान से खेल रहे हैं। बावजूद इसके शासन द्वारा महज अभियान चलाने का कोरम पूरा किया जा रहा है। वहीं, कानूनी दावपेंच से बचने के लिए अब क्वैक किसी दूसरे डिग्री धारक डाक्टर के नाम पर प्राइवेट नर्सिंग होम खोलकर बैठने लगे हैं। कयी जगहों पर मेडिकल स्टोर खोलकर उसकी आड़ में ही ये प्रैक्टिस कर रहे हैं। ऐसे में जिम्मेदार अधिकारी भी इन लोगों पर हाथ डालने से बच रहे हैं।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

राजधानी के माल क्षेत्र में ही प्रत्येक कस्बे आदि में सीएचसी व पीएचसी सेंटर होने के बावजूद लगभग प्रत्येक ग्राम सभा में एक-दो क्वैक प्रैक्टिस करते अवश्य देखे जाते हैं। सूत्रों की माने तो इलाके के काकराबाद, जेहटा, कसमंडी, बाजारगांव, गुमसेना, सैदापुर, बांझी, अटारी, गहदो, गौरैया, बरगदिया, थावर, गोपरामऊ ससपन, खण्डसरा आदि दर्जनों जगहों पर बेख़ौफ़ झोलाछाप नागरिकों की सेहत से खिलवाड़ कर रहे है।

क्षेत्र में क्वैक की सूचना मिली है। पंजीकृत मेडिकल स्टोर्स एवं नीम हकीमों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध जल्द ही कार्यवाई की जायेगी।
डाक्टर योगेश कुमार सिंह, अधीक्षक, सीएचसी माल

यही नहीं जब किसी मरीज की हालत अधिक बिगड़ने लगती है तो ये उसे अपने संरक्षक आकाओं के निजी नर्सिग होम में भेंजकर खुद को बचाने की पेसबंदी कर लेते है।

ये भी पढ़ें : सोशल नेटवर्किंग पर नीम हकीम जानकारियां घातक

ऐसे ही एक वाक्ये में जब क्षेत्र के गोपरामऊ चौराहे पर स्थित कुछ नीम-हकीमों की रिपोर्टर द्वारा पड़ताल की गयी तो एक झोलाछाप पास स्थित बागों के अंदर चारपाइयों पर गम्भीर मरीजों का इलाज करता पाया गया। वह मरीजों को चारपाई पर ही लिटाकर ड्रिप चढ़ाता भी नजर आया। यही नहीं जब उससे दस्तावेज मांगे गए तो वह इसे भी देने में असमर्थ रहा।

इस सम्बन्ध में जब सीएचसी माल के अधीक्षक डाक्टर योगेश कुमार सिंह से बातचीत की गयी तो उन्होंने खुद के नए होने का हवाला देते हुए कहा कि सीएमओ से वार्ता के बाद गैर पंजीकृत मेडिकल स्टोर्स एवं नीम हकीमों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध जल्द ही कार्यवाई की जायेगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top