बिजली के इंतजार में ग्रामीण, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

बिजली के इंतजार में ग्रामीण, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यानबिजली का खंभा।

हरिनरायण शुक्ला

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कटरा बाजार (गोंडा) । जनपद में ग्रामीण विद्युतीकरण का काम पूरा होने का नाम नहीं ले रहा है। विधान सभा कटरा बाजार के विकास खंड कटरा बाजार के कोटियामदारा में बिजली के खंभे एक साल से खड़े हैं। कार्यदायी संस्था यहां काम नहीं पूरा कर पायी, उसकी जगह दूसरी संस्था को ठेका दिया गया लेकिन दूसरी संस्था अभी तक गाँव में झांकने तक नहीं आयी।

ये भी पढ़ें- वीडियो : स्वामीनाथन रिपोर्ट से किसानों को क्या होगा फायदा, क्यों उठ रही इसे लागू करने की मांग ?

मामला विकासखंड की ग्राम पंचायत कोटियामदरा के मजरा अशोकवापुर व साईपुरवा का है। यहां पर बिजली नहीं है। सपा सरकार में यहां पर बिजली का खंभा आया तो ग्रामीणों में उजाला देखने की उम्मीद जगी। यहां पर खंभे गाड़ दिये गये और उसके बाद कार्यदायी संस्था समाज कल्याण निर्माण निगम इसे झांकने नहीं आयी। विधान सभा चुनाव हुआ और सरकार बदल गई तो योजना का नाम दीनदयाल ज्योति योजना हो गया। कार्यदायी संस्था अपने काम में फेल हो गई तो दूसरी संस्था आइएलएफएस को दे दिये गए, लेकिन इस कंपनी ने अभी तक काम शुरू नहीं किया है।

साईपुरवा के ज्वालाप्रसाद (70वर्ष) का कहना है,“ लगता है कि बगैर बिजली के जिंदगी पार हो जाएगी। पता नहीं कब हमारे गाँव में बिजली आएगी।” अशोकहवापुर के निरहू (58वर्ष) का कहना है, “ बिजली नहीं होने से हमें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।”

ये भी पढ़ें- विश्व रक्तदान दिवस क्यों मनाते हैं , जरा इसके पीछे की कहानी भी जान लीजिए

इसी गाँव के दीपक शुक्ल (30वर्ष) का कहना है, “भाजपा सरकार के उर्जामंत्री तेज तर्रार हैं। लेकिन बिजली विभाग के अधिकारी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं।”

बिजली विभाग के अधिषासी अभियंता अशोक यादव का कहना है, “ यह कार्य पहले समाज कल्याण निर्माण निगम करा रहा था जो नहीं करा पाया तो दूसरी संस्था को दिया गया। यहां पर कोई संस्था काम ही नहीं करा पाती है तो क्या किया जाए।”

First Published: 2017-06-14 17:27:59.0

Share it
Share it
Share it
Top