औरैया जिले के दस गाँव ओडीएफ घोषित

औरैया  जिले के दस गाँव ओडीएफ घोषितग्रामीणों को ओडीएफ के बारे में समझाते एडीओ पंचायत सुधीर पाठक 

रहनुमा बेगम

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत जिले में काम बड़ी तेजी से चल रहा है। इस कड़ी में मंडलीय स्तर की दो टीमों ने 10 गाँवों का सत्यापन कर ओडीएफ गांव घोषित कर दिया। जबकि अन्य गांवों में ओडीएफ के लिए बराबर मॉनिटरिंग की जा रही है। जिन गांवों में खामियां मिली हैं उन्हें टीम ने सत्यापन से बाहर कर दिया।

जिले में ओडीएफ के लिए मंडल स्तर से गठित की गई दो टीमें जिसमें टीम नंबर एक का नेतृत्व अभिषेक सिंह चैहान मंडलीय कोआर्डिनेटर एवं दूसरी टीम का नेतृत्व डा.राजेश शुक्ला मंडीलय कोआर्डिनेटर द्वारा किया गया। जिला स्तर से जिला पंचायती राज अधिकारी केके अवस्थी, विक्रम सिंह जिला समन्वयक, अनुज प्रताप सिंह जिला समन्वयक और जितेंद्र कुमार खंड प्रेरक को टीमों का सहयोग करने के लिए उनके साथ सत्यापन के लिए भेजा गया।

पहली टीम ने विकास खंड औरैया के ग्राम मिर्जापुर, सरियापुर, टिकौली, फतेहपुरकरम व विकास खंड अजीतमल के ग्राम खुखूपुर का सत्यापन किया गया, जबकि दूसरी टीम द्वारा विकास खंड बिधूना के ग्राम राजपुर, नंदपुर, सोहनी व विकास खंड अछल्दा के ग्राम पुर्वा मके, जलालपुर फफूंद का ओडीएफ सत्यापन किया गया।

ये भी पढ़ें- पूरे देश में ओडीएफ का शोर है, जानिए कैसे गांव को बनाया जाता है खुले में शौच से मुक्त

इसमें सभी गांव ओडीएफ के मानकों पर खरे उतरे जब कि मानकों के विपरीत रहने वाले गांवों को सत्यापन से बाहर कर दिया गया। ग्राम प्रधान, सचिव, सहायक विकास अधिकारी के प्रयास से लोगों को गांव को स्वच्छ रखने और शौचालय प्रयोग करने के लिए लगातार प्रेरित किया गया। जिस वजह से 10 गांवों को ओडीएफ घोषित किया गया। डीपीओ केके अवस्थी ने बताया कि गांव को स्वच्छ और साफ रखने तथा लोगों को शौचालय मुहैया कराने वाले प्रधानों को जिलाधिकारी जय प्रकाश सगर द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top