Top

नहीं काम आया सरकारी तंत्र, महिला समाख्या ने की गाँव की सफाई 

Ishtyak KhanIshtyak Khan   14 July 2017 7:11 PM GMT

नहीं काम आया सरकारी तंत्र, महिला समाख्या ने की गाँव की सफाई महिला समाख्या की महिलाओं ने नालियों में चलाया फावड़ा और झाडू। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। गाँवों में किसी प्रकार की कोई गंदगी न रहे इसके लिए शासन से सफाई कर्मियों की नियुक्ति की गई है। नियुक्ति होने के बावजूद सफाई कर्मी गाँव में नहीं जाते हैं, इससे लोगों को स्वयं सफाई करनी पड़ती है। माल्हेपुर गाँव में सफाई कर्मी के न आने से महिला समाख्या की महिलाओं ने स्वयं सफाई का बीड़ा उठाया और फावड़ा, झाडू लेकर पूरे गाँव की सफाई कर डाली।

जिला मुख्यालय से आठ किमी की दूरी पर बसे गाँव माल्हेपुर में सफाई कर्मी की नियुक्ति है, लेकिन वह सफाई करने के लिए नहीं आता है। सफाई कर्मी के न आने से नालियों के बंद हो जाने से घरों से निकलना गंदा पानी सड़क और गली में भर जाता है। इससे गलियां जलमग्न बनी रहती है। इससे आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पडता है। गाँव के लोगों की समस्या को देखते हुए गाँव कनेक्शन अखबार की टीम ने गाँव में जाकर लोगों से बातचीत की। जिसकी खबर अखबार ने प्रमुखता से छापी थी। सरकारी तंत्र की आश छोड़ चुकी महिला समाख्या की महिलाओं ने स्वयं सफाई करने का बीडा उठाया। महिला समाख्या की कुछ महिलाओं ने हाथ में झाडू, फावड़ा और तसला लेकर सफाई का काम शुरू किया।

माल्हेपुर गाँव में सफाई कर्मी के न आने से महिला समाख्या की महिलाओं ने स्वयं सफाई का उठाया बीड़ा।

जब गाँव के लोगों ने महिलाओं को सफाई करते देखा तो गाँव के लोग, युवा, बुजुर्ग, महिलाएं और युवतियां भी लग गई। गाँव के लोगों ने महिलाओं के साथ शर्मिंदा होकर पूरे गाँव की सफाई कर डाली। जिस गाँव की गली में निकलने में परेशानी हो रही थी आज उस गाँव की गली वाहन लेकर निकलने लायक हो गई है। महिला समाख्या की महिलाए सावित्री देवी, रानी देवी, गुड्डी देवी, रीता देवी ने सफाई अभियान चलाकर पूरे गाँव की सफाई की जिसमें गाँव की महिलाओं और युवतियों ने भी सहयोग किया। गाँव के लोगों ने स्वयं सफाई करने का संकल्प लेते हुए महिला समाख्या की महिलाओं की सराहना की।

महिला समाख्या की जिला कार्यक्रम समन्वयक विनीता त्रिपाठी का कहती हैं, ”जिस काम के लिए पुरूष आगे नहीं आए है उसको महिला समाख्या की महिलाओं ने करके दिखाया है। ऐसे कई पराक्रम के कार्य महिलाएं समय-समय पर करती रहती हैं महिलाओं ने सफाई कर एक अच्छी पहल की है।" माल्हेपुर गाँव के प्रधान मुलायम सिंह का बताते हैं, "डीपीआरओ से सफाई कर्मी के न आने की शिकायत की गई है। डीपीआरओ ने सफाई कर्मी को भेजे जाने का आश्वासन दिया है।"

जिला पंचायत राज अधिकारी केके अवस्थी ने बताया, "गाँव में सफाई कर्मी नियुक्त है क्यों नहीं जा रहा है इसकी जानकारी प्रधान द्वारा मिली है। सफाई कर्मी को नियमित गाँव में सफाई के लिए भेजा जाएगा। महिला समाख्या की महिलाओं ने सराहनीय कार्य किया है।"

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.