नोटबंदी, जीएसटी से लोग कर-अनुपालन करने वाले बनेंगे: जेटली

नोटबंदी, जीएसटी से लोग कर-अनुपालन करने वाले बनेंगे: जेटली  गांधीनगर में वाइबेंट गुजरात सम्मेलन के दौरान अरुण जेटली।

गांधीनगर (भाषा)। नोटबंदी से हुई परेशानी को अस्थाई बताते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि इस कदम के साथ साथ वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने से भारतीय अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा और समाज अधिक कर अनुपालन करने वाला बनेगा। उन्होंने कहा कि इस समय हमारा समाज ‘बहुत कुछ’ ‘कर अनुपालन न करने वाला समाज है।’

वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक सम्मेलन को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा कि बड़े नोटाें को बंद करने का कदम कालेधन वाली अर्थव्यवस्था को समाप्त करने के लिए उठाया गया है। उन्हाेंने कहा कि इसी उद्देश्य से सरकार ने मारीशस, साइप्रस तथा सिंगापुर के साथ कर संधियांे को बातचीत कर के संशोधित किया गया है। इससे कर चोरी तथा देश के कालेधन को घुमाफिराकर फिर देश में लाने पर अंकुश लगेगा।

“निश्चित रूप से कठिन फैसलाें से प्रारंभिक दौर में कठिनाई आती है। ऐतिहासिक फैसलांे से देश को दीर्घावधि का फायदा हो सकता है और इनके साथ क्षणिक कठिनाई भी जुड़ी हो सकती है।”
अरुण जेटली, वित्त मंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 8 नवंबर को 500 और 1,000 के नोट बंद करने की घोषणा की थी। जेटली ने कहा कि भारत विकासशील से विकसित अर्थव्यवस्था बनना चाहता है और यह दुनिया मंे सबसे तेज वृद्धि दर वाली अर्थव्यवस्था है। “कराधान के अनुपालन के मामले में हम उल्लेखनीय रुप से अनुपालन नहीं करने वाला समाज हैं।”

Share it
Top