डॉक्टर बंसल के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए आईएमए ने दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम, हड़ताल पर जाएंगे यूपी के डॉक्टर

Darakhshan Quadir SiddiquiDarakhshan Quadir Siddiqui   13 Jan 2017 9:05 PM GMT

डॉक्टर बंसल के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए आईएमए ने दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम, हड़ताल पर जाएंगे यूपी के डॉक्टरडॉक्टर बंसल की हत्या का विरोध जताते एमएमए यूपी के सदस्य।

लखनऊ। इलाहाबाद में डाक्टर की हत्या के बाद यूपी के सरकारी और निजी सभी डॉक्टर भड़क गए हैं। यूपी मेडिकल एसोसिएशन ने चेतावनी दी गई है कि 24 घण्टें के भीतर हत्यारों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो पूरे प्रदेश के डॉक्टर हड़ताल पर चले जाएंगे।

इलाहाबाद में गुरूवार जाने-माने सर्जन एवं जीवन ज्योति हास्पिटल के प्रबंध निदेशक डा. एके बंसल को उनके चैम्बर में घुसकर एक युवक ने गोली मार थी। गोली उनके कनपटी, कंधे एवं सिर में लगी। गम्भीरावस्था में उन्हें पहले उनके अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गयी। डॉक्टर बंसल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या के बिजनेस पार्टनर भी थे।

डॉक्टरों ने दिया हड़ताल का अल्टीमेटम

डॉ. बंसल की हत्या से नाराज कई डाक्टरों के काला फीता बांधकर अपना विरोध जताया। आईएमए अध्यक्ष डाक्टर पीके गुप्ता ने कहा, डॉक्टरों पर हो रहे हमले शर्मनाक हैं। इससे पहले भी इलाहाबाद 2015 में डाक्टर रोहित गुप्ता को बदमाशों ने अधमरा कर दिया था। पूरे यूपी के डाक्टरों में आक्रोश है अभी हम अपना गुस्सा काला फीता बांधकर प्रकट कर रहे हैं लेकिन 24 घण्टें में हत्यारों की गिरफ्तारी नही हुयी तो हम सड़क पर उतर आएंगे और हड़ताल करेंगे।

हमले नहीं थमें तो हम छोड़ देगे डॉक्टरी

डॉ. पीके गुप्ता ने कहा हम डॉक्टरों ले अगर नही थमते हैं तो हम कुछ और काम कर लेंगे। हम मरीज की जान बचाने का काम करते हैं। अब हम और नहीं मर सकते। मेडिकल एक्ट का सख्ती से पालन हो। प्रोटेक्शन एक्ट तो बना दिया लेकिन प्रोटेक्शन नहीं है। हम जानना चाहते हैं इस एक्ट के तहत अब तक कितने डॉक्टरों पर कार्रवाई हुई है ?

लाइसेंसी असलहों को जमा न कराया जाए: आईएमए

डाक्टर पीके गुप्ता ने कहा, “आचार संहिता के चलते सभी लाईसेन्सी असलहों को जमा करने के प्रावधान हैं, लेकिन डॉक्टर के चैम्बर के अन्दर घुसकर हत्या कर देना इस बात की तरफ इशारा करता है कि आजकल बदमाश बेखोफ हो गए है। और डाक्टरों पर बढ़ते हमलें को और उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखतें हुए उनके लाइसेंसी हथियार जमा न कराए जाए, जिसके लिए राजधानी के इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन ने चीफ इलेक्शन कमिशन को पत्र लिखकर लाईसेसी हत्यार न जमा करने की मांग की हैं।” हमने मुख्य चुनाव आयुक्त के साथ डीजीपी, डीएम और गर्वनर को भी पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की है। कोई भी कही भी आकर मार कर चला जाता है

जब सड़क पर उतरेंगे तो मरीजों का क्या होगा

वहीं आईएमए के सेक्टरी अध्यक्ष डाक्टर जेडी रावत का कहना है कि अभी हम यूपी आईएमए की गाइडलाइन के मुताबिक काला फिता बांधकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन 24 घण्टें के भीतर कार्रवाई नहीं हुई तो हम सड़क पर उतरेंगे।

मरीज की मौत हो जाने पर किया था डाक्टर पर जानलेवा हमला

12 अप्रैल 2015 को इलाहाबाद के डाक्टर रोहित गुप्ता को एक मरीज की मौत हो जाने के बाद पीट पीटकर अधमरा कर दिया था। जिस वक्त मरीज वीरेंद्र की मौत हुई थी उस वक्त डॉ. रोहित अस्पताल में मौजूद थे। मौत से आक्रोशित परिजनों ने आइसीयू में ही डॉ. रोहित को घेर लिया और उनकी पिटाई शुरू कर दी थी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top