खम्भा नम्बर बताकर दूर कराएं बिजली फॉल्ट

खम्भा नम्बर बताकर दूर कराएं बिजली फॉल्ट

गोरखपुर। बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं को सहूलियत देने के लिए नई प्रक्रिया शुरू की है अभी तक उपभोक्ता के बिल पर कनेक्शन नम्बर बिजली खपत और धनराशि का उल्लेख होता था। अब इस माह से नये तरीके से उसमें खम्भा नम्बर भी दर्ज होगा।

बिजली विभाग के कर्मचारी बहादुर (40 वर्ष) कहते हैं, ''शहर में जब कही से भी शिकायत होती है तो उसे खोजने के लिए लिए काफी दिक्कत होती है। कभी-कभी तो हम पहुंच भी नहीं पाते, जिससे बिजली उपभोक्ता नाराज हो जाते हैं। लेकिन ऐसी व्यवस्था से ही उपभोक्ता को ही नहीं हमे भी काफी आसानी होगी पहुचने में। साथ ही साथ समय की भी बचत होगी।"

महानगरीय अधिकक्षण अभियंता आरआरसिंह कहते हैं, ''इसके पहले ऐसी व्यवस्था नहीं थी तो शिकायत दर्ज करवाने के बाद उपभोक्ता को खोजने में काफी दिक्कत होती है लेकिन खम्भा नम्बर दर्ज हो जाने से जिस उपभोक्ता को कोई भी दिक्कत होगी वह अपना नाम एवं अपने खम्भे का नम्बर बतायेगा तो हमारे कर्मचारी उन्हें आसानी से ट्रेस करके उनकी समस्या हल कर सकेंगे।

महानगरीय बिजली वितरण मंडल के करीब एक लाख 55 हजार उपभोक्ताओं के बिजली बिल पर खम्भा नम्बर दर्ज करने के लिए बिलिंग कम्पनी के साफ्टवेयर में बदलाव किये जा रहे है। इसके पहले ही ट्रांसफार्मर एवं खम्भा नम्बर उपभोक्ता के आनलाइन बिलिंग सिस्टम में फीड है उसे बिजली के बिल पर दर्ज करने की कवायद अंतिम दौर में चल रही है। अभियंता आगे बताते हैं, ''हमारे कर्मचारी जिन-जिन उपभोक्ताओं का खम्भा नम्बर अभी तक दर्ज नहीं हुआ है उनका सर्वे कर रहे हैं। अगर जिन उपभोक्ता के यहां बिजली बिलिंग कम्पनी के लोग नहीं जा रहे है वह स्वयं ही फोन करके एसडीओ या जेई को अपने खम्भे का नंबर दर्ज करा सकते है। इस नई व्यवस्था से उपभोक्ताओं को अपनी शिकायत दूर करने में आसानी होगी।"

Tags:    India 
Share it
Top