छेड़खानी से महिलाओं को बचाने में सहायक होगा ये ऐप, एक क्लिक से पांच लोगों से मांग सकेगी मदद

छेड़खानी से महिलाओं को बचाने में सहायक होगा ये ऐप, एक क्लिक से पांच लोगों से मांग सकेगी मददमध्यप्रदेश पुलिस ने लॉन्च किया है ऐप।

भोपाल (भाषा)। देश को शर्मसार करने वाली बेंगलुरू की सार्वजनिक छेड़खानी की घटना के बाद देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बहस छिड़ गई है, इसी बीच मध्य प्रदेश पुलिस ने एक ऐप लॉन्च किया है जो महिलाओं को ऐसी छेड़खानी से बचाने में मददगार साबित होगा।

नए साल के पहले हफ्ते में मध्यप्रदेश पुलिस ने ‘एमपी ई-कॉप’ मोबाइल एप्प और पोर्टल सेवा शुरू की है। इसके जरिए मुसीबत के वक्त केवल एक बटन भर दबाने से महिला को तुरंत मदद मिलने का दावा किया गया है। मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक रिषी कुमार शुक्ला ने शुक्रवार को बताया, “एमपी ई-कॉप मोबाइल एप्प में एसओएस (मुसीबत का संकेत) की सुविधा दी गई है। महिला द्वारा यह बटन दबाते ही ऐप में पहले से चुने गए फोन नंबरों पर सहायता की जरूरत का एसएमएस पहुंच जाएगा।”

उन्होंने कहा कि ऐप की सहायता से कोई भी महिला मुश्किल के वक्त एक बार में अधिकतम पांच नंबरों पर सहायता का संदेश भेज सकती है। पुलिस महानिदेशक ने वर्ष 2017 की प्राथमिकताओं के संबंध में कार्ययोजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि महिलाओं के विरुद्ध अपराधों पर नियंत्रण के लिए विशेष कार्य-योजना बनाई जा रही है। इसके अलावा साइबर अपराध की आशंकाओं के मद्देनजर लोगों को जागरूकता बनाने की योजना भी बनाई जा रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top