मथुरा कांड के लिए केंद्र के लोग इस्तीफा दें: अमर सिंह

अमित सिंहअमित सिंह   13 Jun 2016 5:30 AM GMT

मथुरा कांड के लिए केंद्र के लोग इस्तीफा दें: अमर सिंहgaonconnection

लखनऊ। राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद मथुरा कांड को लेकर अमर सिंह ने राज्य सरकार की पैरोकारी की है। मामले के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार न बताते हुए उन्होंने केंद्र में बैठे लोगों से इस कांड के लिए इस्तीफ़े की मांग की है।

राजधानी में पत्रकार वार्ता के दौरान अमर सिंह ने बीजेपी शासित राज्यों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘’पहले व्यापम के लिए शिवराज सिंह चौहान का इस्तीफ़ा लेकर आओ। मध्य प्रदेश में एक के बाद एक मासूम मर रहे हैं और मध्य प्रदेश सरकार के लिए ये सिर्फ़ एक घटना है।

हरियाणा में आरक्षण आंदोलन के दौरान महिलाओं के साथ हुए दुर्व्यहार के लिए मनोहर लाल खट्टर का इस्तीफ़ा मांगो। महिलाओं के साथ रेप को बीजेपी सरकार घटना कहती है दुर्घटना नहीं। छत्तीसगढ़ में नक्सली हिंसा में मारे जाने वाले नेताओं और आम लोगों की मौत के लिए रमन सिंह का इस्तीफ़ा लेकर आओ।

बीजेपी शासित राज्यों में कोई हादसा पेश आए तो सरकार उसे छोटी घटना करार देती है। बीजेपी के किसी बड़े नेता का कोई बयान नहीं आता, लेकिन मथुरा में जो कुछ हुआ उसे बीजेपी और उसके नेता बड़ी घटना बता-बता कर सपा सरकार और उनके नेताओं से इस्तीफ़ा मांग रहे हैं और पार्टी को बदनाम कर रहे हैं।’’

अमर सिंह ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा, ‘’केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को वक्त रहते कोई इनपुट नहीं दिया। अगर वहां से समय से जानकारी मिल गई होती तो राज्य सरकार समय रहते कार्रवाई करती। मथुरा मामले में केंद्र सरकार के अधीन काम करने वाली आईबी पूरी तरह से फेल साबित हुई है।’’ अमर सिंह ने मथुरा मामले को लेकर कहा कि, ‘’ऐसा मुमकिन है कि जवाहर बाग में झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, ओडिशा से आए नक्सलियों ने डेरा जमा रखा हो।’’

गाँव कनेक्शन ने अमर सिंह से जब सवाल पूछा कि जवाहर बाग में तैनात पुलिस कर्मियों को वक्त पर अतिरिक्त फोर्स क्यों नहीं भेजी गई तो अमर सिंह ने कहा, ‘’अपराधी महिलाओं और बच्चों की श्रृंखला के पीछे छिपे थे जिसकी वजह से पुलिस महिलाओं और बच्चों पर कार्रवाई नहीं कर पाई। 

शिवपाल का मथुरा कांड से कोई लेना-देना नहीं

सपा नेता ने कहा कि प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव का मथुरा कांड से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने खुलासा किया, ‘’जय गुरुदेव तो शिवपाल को गोद लेना चाहते थे, पर वो वहां की गद्दी सम्भालने के लिए नहीं गए। अगर मुझे इतनी सम्पत्ति मिलती तो मैं तो तुरंत ले लेता।’’ कैराना मामले पर अमर सिंह ने कहा, ‘’बीजेपी पहले अपनी सरकारों वाले राज्यों का हाल देखे। उन्होंनने कहा कि हम लोग काम तो करते हैं पर प्रचार नहीं कर पाते। इसी का फायदा उठाकर विरोधी दल अनाप-शनाप आरोप लगा देते हैं। यूपी में तो जिसका जो मन होता है आकर धमकाने वाले अंदाज में बोल जाता है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top