उत्तर प्रदेश के गाँवों में दौड़ेंगी ब्लड कलेक्शन वैन

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   19 Aug 2017 8:08 AM GMT

उत्तर प्रदेश के गाँवों में दौड़ेंगी ब्लड कलेक्शन वैनग्रामीण इलाकों में जाने को तैयार ब्लड कलेक्शन वैन।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। ग्रामीण क्षेत्रों और दूरदराज के वे लोग जो रक्तदान करना तो चाहते हैं, लेकिन ब्लड बैंक दूर होने या अन्य वजहों से रक्तदान नहीं कर पाते, उनके लिए स्वास्थ्य विभाग ने ब्लड कलेक्शन वैन का शुभारंभ किया है। यह वैन गाँव-गाँव जाकर लोगों को रक्तदान की सहूलियत देगी।

प्रदेश में स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए 18 मंडलों में ब्लड कलेक्शन और ट्रांसपोर्टेशन वैन की सेवा शुरू की गई है। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने वैन और ब्लड मोबाइल ऐप का शुक्रवार को उद्घाटन किया। इस अवसर पर वैन को झंडी दिखाकर विभिन्न जनपदों में भेजा गया।

ये भी पढ़ें- गोरखपुर त्रासदी : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की रिपोर्ट ने खोली सरकारी व्यवस्था की पोल

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया, “लागू होने वाली योजना बहुत ही अच्छी है। इसकी शुरुआत और भी पहले हो जानी चाहिए थी।” स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, “जिस गाँव में ब्लड कलेक्शन वैन जाने वाली हो, उसके कुछ दिन पहले से वहां पर प्रचार-प्रसार करना चाहिए, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसकी जानकारी मिल सके। जिस गाँव का व्यक्ति रक्तदान करेगा, उसके पड़ोस के गाँव में ये बताया जाए कि इस गाँव के इतने व्यक्तियों ने रक्तदान किया है, जिससे दूसरे गाँव के लोग भी रक्तदान करने के लिए प्रेरित हो सकें।”

ब्लड कलेक्शन वैन के उद्घाटन के अवसर पर थैलीसीमिया से ग्रसित बच्चों को थैलीसीमिया पहचान पत्र प्रदान किया गया। इसके अलावा दस रक्तदाता स्वैच्छिक संस्थाओं व उत्कृष्ट कार्य करने वाले रक्तकोष का सम्मान और किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज लखनऊ के रक्तकोष द्वारा विश्व रक्तदाता दिवस पर आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता के लिए प्रथम द्वितीय तृतीय स्थान के प्रतिभागियों को सम्मानित भी किया गया।

ये भी पढ़ें- मेरठ में स्वाइन फ्लू का क़हर जारी, जा चुकी है कई जानें

हर एक मिनट में दो यूनिट खून की जरूरत

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने बताया, “अभी तक हम हर एक मिनट में एक यूनिट से भी कम रक्त इकट्ठा कर पाते हैं, लेकिन हमें हर एक मिनट में दो यूनिट की आवश्यकता है। इस योजना से हमें रक्त मिलेगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top