यूपी बोर्ड की पांच करोड़ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू

यूपी बोर्ड की पांच करोड़ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरूकापी चेक करते अध्यापक।

औरैया। यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूरे प्रदेश में शनिवार से शुरू हो गया। प्रदेश में पांच करोड़ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन होना है। जिसके लिए 86 हजार शिक्षकों को लगाया गया है और 248 मूल्यांकन केंद्र बनाये गये हैं। मूल्यांकन का कार्य पांच अप्रैल तक चलेगा।

जिले में आई साढे 7 लाख कापी

मूल्यांकन के लिए औरैया जिले में तीन केंद्र बनाये गये हैं। चैा.विश्म्ंभर सिंह भारतीय विद्यालय, जिला पंचायत इंटर कालेज मुरादगंज और पब्लिक इंटर कालेज बिधूना। तीन केंद्रों के लिए साढे सात लाख उत्तर पुस्तिकाऐं आई हैं। जिले के 1300 शिक्षक मूल्यांकन पर लगाये गये हैं।

बोर्ड परीक्षा में इतने छात्रों द्वारा परीक्षा छोड़ना एक बडा रिकार्ड है। छात्रों ने परीक्षा छोड़ी है या बिना छात्र पंजीकरण प्रबंधकों द्वारा किया गया है। इसकी जांच बैठा दी है बिना छात्र पंजीकरण पाये जाने पर कार्रवाई होगी।
नीना श्रीवास्तव, सचिव, यूपी बोर्ड इलाहाबाद

ये भी पढ़ें- इस युवक की मुहिम रंग लाई, यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में शामिल होगी डॉ कलाम की जीवनी

जिला विद्यालय निरीक्षक चंद्र प्रताप सिंह ने बताया ”मूल्यांकन के लिए जिले के 1300 शिक्षकों को लगाया गया है। मूल्यांकन में आनाकनी करने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई होगी।”

गया है। मूल्यांकन में आनाकनी करने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई होगी।”

पंजीकृत छात्र

हाईस्कूल के छात्र-3655691

इंटरमीडिएट के छात्र-2981327

परीक्षा छोड़ने वाले छात्र

हाईस्कूल में-660207

इंटरमीडिएट में-469279

छात्रों द्वारा परीक्षा छोडना एक बड़ा विषय है इसकी जांच शुरू हो गई है। प्रदेश की तकरीबन पांच करोड़ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो गया है। हाईस्कूल पर 8 रूपये और इंटरमीडिएट पर 10 रूपये मूल्यांकन का निर्धारित है। प्रदेश भर में करीब 86 हजार शिक्षक मूल्यांकन का कार्य करेंगे।

डा.अवध नरेश शर्मा, शिक्षा निदेशक, यूपी बोर्ड इलाहाबाद

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top