उन्नाव गैंगरेप मामले में सीबीआई के निशाने पर तत्कालीन पुलिस अधीक्षक पुष्पांजली

कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ गंभीर शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई होती न देख पीडि़ता ने लखनऊ में सीएम आवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया था।

उन्नाव गैंगरेप मामले में सीबीआई के निशाने पर तत्कालीन पुलिस अधीक्षक पुष्पांजली

उन्नाव गैंगरेप मामले में अब सीबीआई तत्कालीन पुलिस अधीक्षक पुष्पांजली से भी पूछ-ताछ करेगी। उनपर दुष्कर्म पीड़िता की शिकायत के बावजूद मामले में कोई भी कार्रवाई न करने का आरोप लगा है। सीबीआई ने पुष्पांजली देवी से मामले में पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है।
कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ गंभीर शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई होती न देख पीडि़ता ने लखनऊ में सीएम आवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया था। इसके बाद सीबीआई जांच के दौरान ही पुष्पांजली देवी को उन्नाव के एसपी पद से हटाते हुए लखनऊ डीजीपी ऑफिस से अटैच कर दिया गया। फिलहाल वह पीलिया से ग्रसित होने की वजह से छुट्टी पर हैं। सीबीआई ने जब नोटिस भेजा तो बीमारी का हवाला देकर पुष्पांजली ने सीबीआई से मोहलत मांगी है। माना जा रहा है कि अगले हफ्ते तक ऑफिस न लौटने की सूरत में सीबीआई पुष्पांजली देवी से उनके घर पर ही पूछताछ कर सकती है।
बतादें रेप पीडि़ता की शिकायत के बावजूद एसपी पुष्पांजली देवी पर कार्रवाई न करने का आरोप लगा है। इस मामले में लखनऊ से मांगी गई रिपोर्ट पर भी पूछताछ होगी। इसके अलावा सीबीआई पीड़िता के पिता से मारपीट की शिकायत पर कार्रवाई पर भी पूछताछ करेगी। इसके साथ तीन अप्रैल को मामले में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से फोन पर बातचीत के बारे में भी सीबीआई उनसे पूछताछ करेगी।
पीड़िता के पिता की पिटाई के बाद आरोपी विधायक सेंगर ब्लॉक प्रमुख अरुण कुमार सिंह और संतोष कुमार मिश्रा के साथ एसपी से मुलाकात कर भाई अतुल सिंह के खिलाफ कार्रवाई न करने का दबाव बनाया था। इस बारे में सीबीआई ब्लॉक प्रमुख अरुण कुमार सिंह और संतोष कुमार मिश्रा से पहले ही पूछताछ कर चुकी है। आरोपी विधायक सेंगर, उसके भाई अतुल सिंह, सहयोगी शशि सिंह समेत अन्य आरोपी जेल में हैं। सीबीआई मामले में सभी संबंधित लोगों से पूछताछ कर साक्ष्य जुटा रही है।
(एजेंसी)

Share it
Top