Top

यूपी में पटरी दुकानदारों, रिक्शा और खोमचे वालों के लिए मुफ्त कोरोना टीकाकरण अभियान शुरु

यूपी में पटरी दुकानदारों, रिक्शा और खोमचे वालों के लिए मुफ्त कोरोना टीकाकरण अभियान शुरु

लखऩऊ में स्ट्रीट वेंडर के टीकाकरण के लिए विशेष अभियान की शुरुआत के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ।

लखनऊ (उत्तर प्रदेश)। प्रदेश में आज ( 14 जून) से स्ट्रीट वेंडर के लिए निशुल्क कोरोना टीकाकरण की शुरुआत की गई है। लखनऊ के चिल्ड्रेन्स पैलेस म्युनिसपल नर्सरी स्कूल में अभियान की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के द्वितीय चरण के संक्रमण को रोकने के लिए कई नये अभियान संचालित किये गये, ताकि कोरोना संक्रमण की चेन को हर स्तर पर तोड़ा जा सके, रोका जा सके। सभी नागरिकों को सुरक्षा कवच देने के लिए वैक्सीनेशन सबसे सशक्त माध्यम है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्ट्रीट वेण्डर्स के निःशुल्क कोरोना वैक्सीनेशन के लिए स्थापित किये गये टीकाकरण केन्द्र का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने केन्द्र पर मौजूद लोगों से बातचीत कर उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित किया तथा लाभार्थियों को टीकाकरण प्रमाण-पत्र वितरित किया। प्रदेश में स्ट्रीट वेण्डर्स, पटरी दुकानदार, ठेला, खोमचा, रेहड़ी आदि के लिए स्पेशल बूथ बनाये गये हैं।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई सफलतापूर्वक आगे बढ़ रही है। इस लड़ाई में वैक्सीनेशन की महत्वपूर्ण भूमिका है। उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी का दूसरा चरण अब नियंत्रण के नजदीक है। 24 अप्रैल, 2021 को प्रदेश में जहां 38,055 केस एक ही दिन में रिपोर्ट हुए थे, आज (14 जून) मात्र 339 केस ही आये हैं। 30 अप्रैल, 2021 को प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 3,10,780 से अधिक थी। 'ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट' के मूल मंत्र को मजबूती से लागू करने का परिणाम है कि आज प्रदेश में मात्र 8,111 एक्टिव केस ही बचे हैं।"

सीएम योगी ने कहा कि वैक्सीनेशन कार्य में तेजी लाने एवं लोगों को वैक्सीनेशन की सर्वसुलभता हेतु विभिन्न समूहों पर फोकस करते हुए कार्यक्रम बनाये गये हैं। प्रदेश सरकार द्वारा अभिभावक स्पेशल बूथ पर 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावकों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जा रहा है। इसी प्रकार, जूडीशियरी तथा मीडिया के लिए अलग बूथ तथा शिक्षक एवं सरकारी कर्मचारियों के लिए अलग बूथों पर वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है।

प्रदेश के बच्चों को मेडिकल किट देगी सरकार, अभियान की शुरुआत 15 जून से।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जनपद में पीडियाट्रिक आई0सी0यू0 (पीकू) के निर्माण की कार्यवाही युद्धस्तर पर चल रही है। इसके अलावा, प्रदेश में बच्चों को मेडिकल किट उपलब्ध कराने की प्रक्रिया आगे बढ़ायी जा रही है। 15 जून से इस अभियान का शुभारम्भ किया जाएगा। प्रत्येक जनपद में निगरानी समितियों के माध्यम से मेडिकल किट का वितरण किया जाएगा। लोगों से अपील की कि वैक्सीन लेने के बाद भी सावधानियां बरतें तथा 'दो गज की दूरी मास्क है जरूरी' मंत्र का पालन अवश्य करें। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लेने से घबराने की आवश्यकता नहीं है। लोग किसी भी भ्रम या अफवाह पर ध्यान न दें। वैक्सीन ही एक मात्र सुरक्षा कवच है। मुख्यमंत्री ने देश को दो स्वदेशी वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.