हापुड केस : यूपी पुलिस ने मांगी माफी, पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

हापुड़ में हुई घटना पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने खेद जताया है और आरोपी पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर जांच शुरु कर दी है, ये सूचना खुद पुलिस ने अपने ट्वीटर के माध्यम से दी है।

हापुड केस : यूपी पुलिस ने मांगी माफी, पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

लखनऊ। हापुड़ में हुई घटना पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने खेद जताया है और आरोपी पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर जांच शुरु कर दी है, ये सूचना खुद पुलिस ने अपने ट्वीटर के माध्यम से दी है।



जानिए क्या था पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के ग्रामीण इलाके में बेकाबू भीड़ ने दो लोगों को बेरहमी से पीटा। सोमवार, 18 जून की दोपहर को खेतों के बीचों-बीच हुए इस हमले में 45 साल के कासिम की मौत हो गई, जबकि समीउद्दीन (65) गंभीर रूप से घायल हो गए फिलहाल उनका इलाज चल रहा है।

लेकिन इस घायल को अस्पताल तक पहुंचाने के दौरान पुलिस की एक फोटो वायरल हो गई, जिसमें कुछ लोग घायल को मुर्दे की तरफ खसीट रहे थे, जबकि सामने चल रहा पुलिसकर्मी फोटो लेने से मना कर रहा था, इस फोटो के सामने आने के बाद भड़के लोगों ने इसे इंसानियत को तार-तार करने वाला बताते हुए यूपी पुलिस को कोसा।

मीडिया में इस घटना के बारे में कुछ दूसरी बातें भी छपी। मसलन, कासिम के परिवार के लोगों का कहना है कि कासिम के खेत में एक गाय और उसका बछड़ा घुस गया था, जिसे कासिम भगा रहा था। इसी दौरान गांव में कुछ लोगों ने गौहत्या की अफवाह फैला दी। मौके पर पहुंचे लोगों ने कासिम और उनके साथ खड़े समीउद्दीन को बुरी तरह से पीटा।

दूसरी कहानी के मुताबिक, कुछ लोग पड़ोस के गांव से खेतों के रास्ते दो गाय और एक बछड़े को काटने के लिए ले जा रहे थे। गांव वालों को जानकारी मिली तो वे मौके पर पहुंचे। उन्हें देखकर कुछ लोग भाग गए जबकि कासिम और समीउद्दीन वहीं खड़े रहे। गांववालों ने उन्हें जमकर पीटा। इस दौरान फायरिंग भी हुई।

मुख्य मुद्दे को लेकर पुलिस की जांच जारी है, एफआईआर में इसे रोडरेज बताया गया है। और फोटो को लेकर पुलिस ने सार्वजिनक तौर पर खेद जताते हुए ऐसे मामलों में पुलिस की तरफ चूक होने की बात कही। पुलिस के इस कदम को लोगों ने सार्थक बताया है।




Share it
Top