यूपी के सबसे बड़े सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन, लेकिन लक्ष्य तक पहुंचने के लिए गति धीमी

यूपी के सबसे बड़े सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन, लेकिन लक्ष्य तक पहुंचने के लिए गति धीमीयूपी के सबसे बड़े सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने आज यूपी के सबसे बड़े सोलर पावर प्लांट का उद्घघाटन किया। लेकिन वर्ष 2015 में नरेंद्र मोदी ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के इरादे से यूपी के लिए जो लक्ष्य निर्धारित किया था उस हिसाब से राज्य की रफ्तार इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए काफी धीमी है।

नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2015 में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के इरादे से राज्यों के लिए लक्ष्य निर्धारित किए थे। यूपी को 2022 तक चार हजार मेगावाट ऊर्जा पैदा करने वाले सोलर प्लांट लगाने हैं। ऐसे में राज्य की रफ्तार इस लक्ष्य को पूरा करने में काफी धीमी है। अब तक राज्य में मिर्जापुर को मिलाकर केवल 100 मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र ही स्थापित हो पाए हैं।

ये भी पढ़ें- सौर ऊर्जा के अधिक उपयोग और रोजगार पैदा करने पर दिया जा रहा जोर

दादरकलां में स्थापित किए गए सौर ऊर्जा संयंत्र पर 560 करोड़ खर्च हुए हैं। इस संयंत्र से रोजाना पांच लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। जिससे एक लाख परिवारों को बिजली मिलेगी। इस परियोजना की स्थापना उत्तर प्रदेश नवीन और नवीनीकरण ऊर्जा विकास अभिकरण यानी नेडा और फ्रेंच कंपनी सोलर डायरेक्ट ने मिलकर की है। इसे नेशनल ग्रिड से भी जोड़ा जाएगा।

आज मिर्जापुर जिले के छानवे विकास खण्ड के दादरकला गाँव में पहुंचकर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और नरेंद्र मोदी ने एनजी सोलर प्लाण्ट का उद्धाटन किया। इस सेलर पावर प्लांट को फ्रांस की कंपनी ने 75 मेगावाट का बनाया है।

ये भी पढ़ें- पुर्तगाल में लगाया गया विश्व का पहला जल सौर ऊर्जा संयंत्र, 100 घरों को पूरे साल देगा बिजली

ये भी देखें -

Tags:    solar energy 
Share it
Top