इटौंजा हाल्ट को स्टेशन बनाने की मांग को लेकर आमरण अनशन जारी

उत्तर प्रदेश में पहली बार किसी मुद्दे को लेकर सभी राजनीतिक दल एक मंच पर आ गये है। और धरना प्रदर्शन का समर्थन किया हैं साथ ही इटौंजा को स्टेशन का दर्जा दिलानें के संघर्ष में साथ देने का वादा किया है।

इटौंजा हाल्ट को स्टेशन बनाने की मांग को लेकर आमरण अनशन जारीइटौंजा में चल रही आमरण अनशन की तस्वीर


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सीतापुर रोड पर बसा क़स्बा इटौंजा रेलवे स्टेशन कों हाल्ट बनाये जाने के विरोध में इटौंजा रेलवे स्टेशन बचाओं संघर्ष समिति के सयोंजक मदन मोहन मिश्रा का आमरण अनशन आज दूसरें दिन भीं जारी हैं।

आमरण अनशन कर रहे मदन मोहन मिश्रा ने बताया, "इटौंजा स्टेशन सीतापुर, बाराबंकी,हरदोई और लखनऊ चार जिलों को जोड़ता है। इटौंजा स्टेशन से क़स्बा सहित करीब 150 गांवो के हजारों दैनिक यात्री जिनमे किसान,दूध व्यवसायी, दैनिक कर्मचारी का आवागमन हैं।स्टेशन का दर्जा ख़त्म होनें से हजारों लोगों को दिक्कते होंगी।

ये भी पढ़े -कहीं कागजों में गुम न हो जाए इटौंजा स्टेशन, हॉल्ट बनाने की तैयारी कर रहा रेलवे

अगर रेलवे स्टेशन नहीं बना तो यही प्राण त्याग दूंगा

मदन मोहन मिश्रा आगे बताते है, " रेलवे प्रशाशन ने ऐशबाग से सीतापुर रूट को बड़ी लाइन में परिवर्तित करते समय इटौंजा स्टेशन को स्टेशन के बजाय हाल्ट का दर्जा दे दिया है। जिसके विरोध में इटौंजा स्टेशन बचाओ संघर्ष काफी समय से विरोध कर रहीं है, अगर इटौंजा को स्टेशन का दर्जा वापस नहीं दिया तो आमरण अनशन जारी रहेगा।

इस प्रदर्शन को समर्थन देने सपा की पूर्व सांसद मोहनलालगंज सुशीला सरोज ,सपा के पूर्व विधायक गोमती यादव ,व् बसपा के पूर्व मंत्री नकुल दुबे भी इटौंजा में हीरा देवी इंटर कॉलेज के पास चल रहें धरना प्रदर्शन में पहुचें व् इस संघर्ष में साथ देने का वादा किया।

ये हैं मांगे ...

मदन मोहन मिश्रा ने बताया की इटौंजा को रेलवे स्टेशन बनाने के अलावा इटौंजा के थाना चौराहे पर बनें ओवरब्रिज की उंचाई बढ़ाने और इटौंजा से गढ़ा गाँव तक रास्ते में पड़ने वाले गांवो के ग्रामीणों का टोल टैक्स माफ़ करने की मांग की हैं ।

इटौंजा को स्टेशन बनाने की स्वीकृति मिल चुकीं है :डीआरएम

पूर्वोतर रेलवे लखनऊ की डीआरएम विजयलक्ष्मी कौशिक ने बताया कि इटौंजा को व्यवस्थित रेलवे स्टेशन बनाने की सहमति रेल मंत्रालय से चुकी हैं और इस बारें में लिखित रूप से मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर को भी अवगत कराया जा चुका है। इटौंजा में प्रदर्शन की सूचना मिली थी और प्रदर्शन करने वालों को भी इस संदर्भ में सूचना दे दी गयी है,आज अपने पीआरओ को धरना स्थल इटौंजा प्रदर्शन कर रहें लोगों को लिखित रूप से जानकारी देने के लिए भेजा हैं।साथ ही उपजिलाधिकारी बीकेटी सूर्यकान्त त्रिपाठी को भी लिखित रूप में सूचना दे दी गयी हैं।साथ ही डीआरएम विजयलक्ष्मी कौशिक ने यह भी बताया की सीतापुर रूट का काम दो महीनों में पूरा किये जाने का लक्ष्य हैं ताकि ये रूट जल्दी चालू हो सकें ।

उपजिलाधिकारी बीकेटी सूर्यकान्त त्रिपाठी ने बताया ,'डीआरएम से इटौंजा को स्टेशन बनाने की लिखित सूचना प्राप्त हुई है।धरना स्थल पर पहुच रहा हू।जो संघर्ष समिति की मांग थी वो रेलवे द्वारा पूरी हो गयी है। तो उम्मीद है की धरना प्रदर्शन आज ख़त्म हो जायेगा।

अब पहले ही पता चल जाएगा वेटिंग टिकट कन्फर्म होगा या नहीं, आईआरसीटीसी की नई वेबसाइट लॉन्च

रेलवे ने पत्र द्वारा दी स्टेशन स्वीकृत होनें की सूचना



भाजपा के मोहनलालगंज सांसद कौशल किशोर ने बताया कि इटौंजा को स्टेशन का दर्जा दिलाने के लिए प्रयास किया जा रहा था जो कि सफल हो गया है।इटौंजा में हाल्ट के स्थान पर तीन लाइन वाला स्टेशन निर्माण के लिए रेल मंत्रालय से स्वीकृति मिल गयी हैं ,जिसकी सूचना मंत्रालय द्वारा मुझे लिखित रूप से भेजी गयी हैं ।जल्द ही इस पर काम शुरू हो जायेगा।इसके लिए सभी क्षेत्र वासियों को बधाई "।













Share it
Share it
Share it
Top