उत्तर प्रदेश में प्रधानों का बढ़ा मानदेय, बजट खर्च करने समेत कई अधिकारों में बढ़ोतरी, जानिए किसे क्या क्या मिला

उत्तर प्रदेश ग्राम उत्कर्ष समारोह में 42,478 ग्राम पंचायत भवनों का लोकार्पण और 58,189 ग्राम सचिवालयों का शुभारंभ किया गया।

उत्तर प्रदेश ग्राम उत्कर्ष समारोह में प्रदेश की प्रदेश की 346 ग्राम पंचायतें आज सम्मानित हुईं, जिसमें से 5 ग्राम प्रधानों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंच पर बुलाकर सम्मानित किया।

राजधानी लखनऊ में आयोजित उत्तर प्रदेश ग्राम उत्कर्ष समारोह में कई घोषणाएं की गईं हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 42,478 नए ग्राम सचिवालयों के लोकार्पण का कार्यक्रम भी आज संपन्न हो रहा है। इसके लिए मैं सभी ग्राम प्रधानों को हृदय से शुभकामनाएं देता हूं।"

ग्राम पंचायतों में हो रहे विकास कार्यों पर सीएम ने कहा कि विकास कार्यों में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से रुपयों की कमी कहीं नहीं आने देंगे। विकास कार्य के लिए पर्याप्त धनराशि दी जाएगी।

लखनऊ के वृंदावन योजना में स्थिति डिफेंस एक्सपो मैदान में प्रदेश के 58189 प्रधान, 55765 पंचायत सहायक/एकाउंटेंट कम डाटा एंट्री ऑपरेटर, 826 सहायक विकास अधिकारी पंचायत और 10738 ग्राम पंचायत सचिव समेत कुल एक लाख 25 हजार 518 लोग शामिल हुए।


अब गाँव में ही बैंकिंग कॉरस्पोंडेंट सखी (Banking Correspondent Sakhi) ही लोगों की समस्याओं का समाधान करेंगी। "गांव के लोगों को अब बैंकों में नहीं जाना पड़ेगा, बल्कि गांव में ही बैंकिंग कॉरस्पोंडेंट सखी आपकी समस्या का समाधान करेंगी। जाति, मूल निवास व आय प्रमाण-पत्र इत्यादि के लिए अब ब्लॉक, तहसील व जिलों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, "मुख्यमंत्री ने कहा।

गाँव में लोगों की सुविधा के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में ऑनलाइन कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से गांव में ही देने का कार्य ग्राम प्रधान के नेतृत्व में कराया जाएगा।

समारोह में मुख्यमंत्री ने 42,478 ग्राम पंचायत भवनों का लोकार्पण और 58,189 ग्राम सचिवालयों का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के समस्त ग्राम पंचायतों में अब सचिवालय के निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। ग्राम पंचायत सहायक की तैनाती प्रत्येक ग्राम पंचायत में की गई है। अब लखनऊ में ही सचिवालय नहीं होगा, हमारे विकास की धुरी ग्राम पंचायत में भी सचिवालय होगा। ग्राम प्रधान के नेतृत्व में वहां पंचायत प्रतिनिधि तो बैठेंगे ही, साथ में ग्राम सहायक उनके सहयोग के लिए खड़ा होगा।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.