यूपी: योगी का एक्शन मोड, नाबालिग से रेप पर हो फांसी केंद्र को लिखेंगे पत्र

यूपी: योगी का एक्शन मोड, नाबालिग से रेप पर हो फांसी केंद्र को लिखेंगे पत्रमुख्यमंत्री की बैठक में 10 विभागों के प्रमुख सचिव मौजूद रहे।

कठुआ और उन्नाव गैंगरेप केस के खिलाफ देशभर में उबाल को देखते हुए यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार महिला सुरक्षा को एक्शन मोड में दिख रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम योगी ने बुधवार को एक अहम बैठक की। इस बैठक में 10 विभागों के प्रमुख सचिव मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध को लेकर सख्त रुख अपनाया है। महिला सुरक्षा को लकेर सीएम योगी ने प्रदेश के आला अफसरों के पेंच भी कसे।

रेप पर फांसी का प्रावधान हो

सीएम योगी ने कहा कि नाबालिग से रेप पर फांसी का प्रावधान हो, इसके लिए वह केंद्र सरकार को पत्र लिखेंगे। उन्होंने कहा कि सभी जिलों के एसपी, डीएम जिले की शैक्षणिक संस्थाओं, व्यापार मंडल, एनजीओ को साथ लेकर जागरूकता फैलाएं। लोगों में सुरक्षा भाव पैदा करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि स्कूलों चौराहों पर सार्वजनिक स्थलों पर सीसीटीवी लगाए जाएं। प्रदेश की महिला हेल्पलाइन 1090 और डायल 100 के बीच समन्वय बढ़ाया जाए। डॉक्टरों को रेप जैसे मामलों में मेडिकल करते समय संवेदनशीलता बरतने की ट्रेनिंग दी जाए।

ये भी पढ़ें- यूपी: गुड़ व खांडसारी उद्योग को बढ़ावा देने की तैयारी में है प्रदेश सरकार 

क़ानूनी प्रक्रिया पर की जाए पैनी निगरानी

योगी ने कहा कि ऐसे मामलों की क़ानूनी प्रक्रिया पर पैनी निगरानी की जाए और उसका फॉलोअप किया जाए। साथ ही ऐसे मनोवृति वाले लोगों में भय पैदा करने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर फुट पेट्रोलिंग हो। डायल 100 के वाहन भी सक्रिय रहें। ऐसी घटनाओं मे कांस्टेबल से लेकर अधिकारी तक सबकी जवाबदेही तय होगी। सीएम ने कहा कि एडीजी और आईजी जिलों में जाएं और ज़मीन पर जाकर हालात का जायज़ा ले और कार्रवाई सुनिश्चित करें। सीएम योगी ने कहा कि यह देखना होगा कि समाज में ऐसी मनोवृति क्यों बढ़ रही है और कैसे इस पर अंकुश किया जाएं।

उन्नाव मामले में उठी थी योगी सरकार पर उंगली

बतादें उन्नाव केस के मुख्य आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर फिलहाल कानून की गिरफ्त में हैं। लेकिन इस मामले में राज्य सरकार की खूब किरकिरी हुई। गैंगरेप पीड़िता की गुहार के बावजूद काफी दिनों तक आरोपी विधायक पर एफआईआर तक दर्ज नहीं किया जा सकाख, वो घूम-घूमकर टीवी चैनलों पर इंटरव्यू दे रहा था।

ये भी पढ़ें- UP BOARD RESULT 2018 : यूपी बोर्ड परीक्षा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट इस तारीख को आएगा

इस बीच जेल में पीड़िता के पिता की मौत हो गई, आरोप एक बार फिर विधायक पर लगे। कुलदीप सेंगर ने यूथ कांग्रेस से राजनीति की शुरूआत की और 2002 में भगवंत नगर से बीएसपी के टिकट पर विधायक बने। इन्हें रघुराज प्रताप सिंह राजा भईया का बेहद करीबी माना जाता है। फिलहाल, कुलदीप सेंगर उन्नाव जिले की बांगरमऊ सीट से विधायक हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top