किसानों के लिए अच्छी ख़बर, फसलों के बाद अब पौधों का भी बीमा

किसानों के लिए अच्छी ख़बर, फसलों के बाद अब पौधों का भी बीमाGaon Connection crop insurance

अमित सिंह

नई दिल्ली। फसलों की बीमा सुविधा के बाद केंद्र सरकार अब किसानों को पौधारोपण के लिए भी बीमा की सहुलियत देने की योजना बना रही है। लेकिन पौधारोपण के लिए दी जाने वाली ये बीमा स्कीम बाज़ार आधारित होगी। यानि शेयर बाज़ार में होने वाले उतार चढ़ाव का इसपर असर पड़ेगा। सरकार की नई योजना के तहत कॉफ़ी, रबर और चाय जैसे महंगे पौधों के लिए बीमा की सुविधा दी जाएगी। सरकार के मुताबिक़ इससे जुड़ी औपचारिकाताएं पूरी करने के बाद पहले इस योजना को देश के 7 ज़िलों में बतौर पायलट प्रोजेक्ट लागू किया जाएगा। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि पौधों के लिए बीमा की सुविधा मिलने के बाद फसल खराब होने और कीमतों में होने वाली गिरावट की हालत में किसानों को नुकसान से बचाया जा सकेगा। वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक़ इस स्कीम की फंडिंग के लिए अलग से राशि की व्यवस्था की गई है। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि कॉफ़ी, रबर और चाय जैसे पौंधों का कारोबार बेहद महंगा होता है और मौसम में ज़रा सी भी तब्दीली आने पर ये पौधे झट से खराब हो जाते हैं ऐसे में किसानों को बड़े नुकसान का खतरा हर वक्त बना रहता है।

17 लाख से ज़्यादा लोगों को हर साल मिलता है रोज़गार

वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों की मानें तो कॉफ़ी, चाय और रबर की खेती की वजह से हर साल 17 लाख 10 हज़ार लोगों को रोज़गार मिलता है। करीब 16 लाख हेक्टेयर ज़मीन पर हर इन पौधों का पौधारोपण किया जाता है लेकिन ये खेती के लिए मौजूद कुल ज़मीन का महज़ 1% ही है। इतने कम हिस्से पर बुआई के बावजूद कुल कृषि आयात का करीब 15% हिस्सा इसके ज़रिए आता है।

भारतीय चाय की अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में अच्छी मांग

भारतीय चाय, कॉफ़ी और रबर की अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में अच्छी मांग है। इसलिए सरकार चाहती है कि किसानों को इन पौधों की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाए। ताकि किसान अपनी फसलों का विदेशों में बेचकर ज्यादा से ज्यादा मुनाफ़ा कमा सकें।

Tags:    India 
Share it
Top