Top

पोल्ट्री व्यवसाय शुरू करने वालों के लिए बढ़िया मौका, ऑनलाइन ट्रेनिंग लेकर शुरू कर सकते हैं मुर्गी पालन

अगर आप भी ब्रायलर, लेयर, टर्की, गिनी फाउल, बटेर, या फिर देसी फाउल पालन शुरू करना चाहते हैं, तो ये आपके लिए बढ़िया मौका है, आप भी रजिस्ट्रेशन करके ऑनलाइन प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं।

Divendra SinghDivendra Singh   14 Oct 2020 5:21 AM GMT

पोल्ट्री व्यवसाय शुरू करने वालों के लिए बढ़िया मौका, ऑनलाइन ट्रेनिंग लेकर शुरू कर सकते हैं मुर्गी पालन

लोग मुर्गी पालन का व्यवसाय तो शुरू करते हैं, लेकिन सही जानकारी न होने पर उन्हें कई बार नुकसान भी उठाना पड़ता है, ऐसे में पोल्ट्री का व्यवसाय शुरू करने जा रहे लोगों के लिए बढ़िया मौका है।

केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान, इज्जतनगर, बरेली समय-समय पर मुर्गी पालन के प्रशिक्षण का कार्यक्रम आयोजित करता रहता है। इस बार अनुसंधान संस्थान ऑनलाइन प्रशिक्षण का कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। जहां पर लोग ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर के छह दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं।

केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. एमपी सागर बताते हैं, "केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान पोल्ट्री फार्मिंग के क्षेत्र में किसानों और युवाओं को जोड़ने के लिए समय-समय छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता रहता है। इसमें ब्रायलर, लेयर, टर्की, गिनी फाउल, बटेर, देसी फाउल पालन का प्रशिक्षण दिया जाता है। इस बार ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। प्रशिक्षण के लिए इच्छुक उम्मीदवारों को 17 अक्टूबर तक रजिस्ट्रेशन करा लेना होगा।"

प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए इच्छुक उम्मीदवार इस लिंक पर क्लिक करके रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। क्लिक करने पर पंजीकरण फार्म खुलेगा, जिसे उम्मीदवार को भरना और सबमिट करना होगा। अगर उम्मीदवार का अपना ईमेल एकाउंट नहीं है तो सबसे पहले गूगल पर जीमेल एकाउंट बना लें। फार्म भरने से पहले, प्रशिक्षण फीस का भुगतान संस्थान की वेबसाइट (https://cari.icar.gov.in/payment.php) पर दिए गए पेमेंट गेटवे के माध्यम से कर दें और रसीद की सॉफ्ट कॉपी को पंजीकरण फार्म में अपलोड कर दें। अपनी पासपोर्ट साइज की फोटो, आधार कार्ड, शिक्षा प्रमाणपत्र(अंतिम कक्षा/डिग्री) जाति प्रमाण पत्र (केवल अनूसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए) की सॉफ्ट कॉपी तैयार करके पंजीकरण फार्म में अपलोड कर दें। बाद में पंजीकरण फार्म भरें और सबमिट करें। इसके बाद आपको ईमेल द्वारा कंफर्मेशन और प्रशिक्षण के लिए लिंक भेजा जाएगा।

शुल्क और भुगतान का तरीका

सामान्य और पिछड़े वर्ग के उम्मीदवारों के लिए प्रशिक्षण शुल्क 700 रुपए और अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए 400 रुपए फीस निर्धारित की गई है। प्रशिक्षण शुल्क वापस नहीं होगा। प्रशिक्षण शुल्क निदेशक, सीएआरआई इज्जतनगर के भारतीय स्टेट बैंक में पेमेंट गेटवे जो संस्थान की वेबसाइट पर उपलब्ध है, के माध्यम से भुगतान किया जा सकता है।

छह दिनों का होगा ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम

ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम 19 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक चलेगा, प्रशिक्षण कार्यक्रम सुबह 10:30 से 05:30 तक चलेगा। उम्मीदवार को कम्प्यूटर, लैपटॉप या फिर एंड्रावयड फोन की जानकारी होनी चाहिए। इंटरनेट के लिए कम से कम 1.5 जीबी और 4जी डाटा प्लान होना चाहिए। क्योंकि ऑनलाइन ट्रेनिंग की सारी औपचारिकताएं जैसे रजिस्ट्रेशन, फीस का भुगतान आदि गूगल फार्म से किया जाएगा, इसलिए उम्मीदवार का जीमेल एकाउंट होना चाहिए।

ये भी पढ़ें: गिनी फाउल पालन बन सकता है कमाई का बेहतरीन जरिया, कम लागत में होगी बढ़िया कमाई


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.