देश के 100 रोल मॉडल किसानों में शामिल कान सिंह को मिलेगा ये पुरस्कार

देश के 100 रोल मॉडल किसानों में शामिल कान सिंह को मिलेगा ये पुरस्कारकिसान कान सिंह 

जैविक खेती को बढावा देने के लिये पिछले 15 सालों से खेती कर रहे राजस्थान के सीकर जिले के किसान कान सिंह को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 9 नवंबर को पुरस्कृत करेंगी। कान सिंह पिछले 15 सालों से जैविक खेती करने के साथ-साथ लोगों को जैविक खेती करने का प्रशिक्षण भी देते है। गाँव कनेक्शन से बातचीत में कान सिंह ने बताया कि सिर्फ अपने देश से ही नहीं विदेशों से भी लोग जैविक खेती के बारे में सीखने के लिये आते है।

प्रशिक्षुओं के रहने के लिये आलीशान व्यवस्था

कान सिंह बताते हैं कि उन्होंने अपने खेत के बीच में ही फार्म हाउस बना रखा है जिसमें हर तरह की सुविधाएं है। उसे बाग-बगीचों से सजाया हुआ है।साथ ही उस फार्म हाउस में आधुनिक सुविधाएं भी दे रखी है। साथ ही प्रशिक्षु जब तक रहता है उसका रहने और खाने का खर्च खुद कान सिंह ही उठाते है साथ ही जैविक खेती का प्रशिक्षण भी निशुल्क देते है।

कान सिंह को है घुड़सवारी का शौक।

ये भी पढ़ें- किसान खेमाराम ने अपने गांव को बना दिया मिनी इजरायल, सालाना 1 करोड़ का टर्नओवर

100 रोल मॉडल में मेरा नाम भी

बतौर कान सिंह भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद को कृषि निदेशालय ने आदेश दिया कि पूरे देश में 100 रोल मॉडल किसानों का चयन किया जाए। रोल मॉडल में राजस्थान से 5 लोगों का नाम गया था जिसमें कान सिंह का नाम सबसे ऊपर था। ये चयन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने ही किया था। उन्होंने बताया कि खेती के साथ-साथ मैं पिछले 10 साल से गाय के लिये भी काम करता हूं जिसकी वजह से मेरा नेटवर्क बड़ा है और लोग मुझे जानते है किं मै जैविक खेती करता हूं।

बेचते है सबसे महंगा अनाज

कान सिंह बताते हैं कि मेरे द्वारा उगाई गई फसल मैं महंगे दाम में बेचता हूं उन्होंने बताया कि इस साल उन्होंने गेहूं 55 रुपए किलो में बेचा। कान सिंह से गाँव कनेक्शन से बातचीत में बताया कि वो जो भी फसल उगाते है उसका आर्डर उन्हें अपने खेत पर ही मिल जाता है वो भी मुंहमांगी कीमत पर। लोग आते है और फसल देखते ही आर्डर दे देते हैं। बताया कि जिस फसल की कीमत वो तय नहीं करते उस फसल को वो अपने पशुओं को खिला देते हैं।

ये भी पढ़ें- मूंगफली की खेती करने वाले किसान का बही खाता, ‘मुनाफा दूर लागत निकालना मुश्किल’

आठ एकड़ जमीन पर करते हैं खेती

कान सिंह आठ एकड़ जमीन पर हर फसल की सब्जियां और अनाज उगाते हैं। उन्होंने बताया कि यहां पर जो छोटे-छोटे किसान मुझसे जैविक खेती के बारे में सीखकर फसल उगाते हैं उनसे मैं खुद ही अनाज खरीद लेता हूं ताकि उन्हें मण्डी में जाकर परेशान न होना पड़ें और बाद में अपने खेत से ही बेच देता हूं।

किसानों की आय दोगुनी करने के पीएम मोदी के वादे की राह में अड़ंगे ही अड़ंगे

राजस्थान में किसानों की परेशानियों को दूर करने के लिए हो रहा ‘ग्राम’ का अायोजन

खेती और रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Share it
Share it
Top