एटीएम की डिटेल से जालसाज बना लेते हैं कार्ड का क्लोन, संभलकर करें इस्तेमाल

Sundar ChandelSundar Chandel   29 Sep 2017 11:26 AM GMT

एटीएम की डिटेल से जालसाज बना लेते हैं कार्ड का क्लोन, संभलकर करें इस्तेमालक्राइम ब्रांच ने त्यौहारी मौसम में सतर्क रहने की सलाह दी है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

मेरठ। अगर आप एटीएम से रुपए निकाल रहे हैं, तो सावधान रहें। हो सकता है, आपके कार्ड की डिटेल नोट करने के लिए जालसाजों द्वारा एटीएम में कार्ड स्वैप करने वाले स्थान पर अतिरिक्त स्लाट स्कीमर और पासवर्ड के लिए स्पाई कैमरा लगा रखा हो। कार्ड की डिटेल से क्लोन तैयार कर जालसाजों द्वारा रकम निकलने के कई मामले सामने आ चुके हैं। क्राइम ब्रांच ने त्यौहारी मौसम में सतर्क रहने की सलाह दी है।

हाईटेक हो गए जालसाज

अब तक जालसाज एटीएम में गड़बडी होने की बात करके उपभोक्ताओं को झांसा देकर उनके खाते से रकम निकाल लेते थे। कई बार उपभोक्ताओं का कार्ड चोरी कर खाते में आसानी से सेंध लगाई जाती थी, लेकिन अब ठगों ने जालसाजी का हाईटेक रास्ता चुना है। उनके द्वारा मशीन में अतिरिक्त स्लाट और स्पाई कैमरा लगाकर ग्राहक की पूरी डिटेल हांसिल कर ली जाती है।

ये भी पढ़ें- एक महीने में 5 बार से ज्यादा एटीएम के इस्तेमाल पर ये बैंक वसूलेगा चार्ज

स्कीमर से कार्ड की डिटेल पता करने वाला गिरोह अक्सर त्यौहार के सीजन पर सक्रिय हो जाता है। दिवाली के समय में पिछली बार भी इस तरह की घटनाएं हुई थी। पुलिस की इन पर पूरी नजर है, साथ ही ग्राहक को भी सतर्क रहने की जरूरत है।
मान सिंह चौहान, एसपी सिटी, मेरठ

यह भी रखें ध्यान

नेट या मोबाइल बैकिंग का इस्तेमाल किसी के सामने न करें, बैंक कभी ट्रांजेक्शन पासवर्ड नहीं पूछता, किसी के पर्सनल सवालों जैसे पासवर्ड, या जन्म की तारीख से जुड़े सवालों का जवाब न दें और किसी अपरिचित के हाथों में एटीएम न थमाएं|

ऐसे लगाते हैं चूना

आईटी एक्सपर्ट अनुपम बताते हैं कि मशीन में कार्ड स्वैप करने वाले स्थान पर स्कीमर डिवाइस लगा दी जाती है। देखने में यह डिवाइस मशीन का ही हिस्सा लगता है। एटीएम की स्क्रीन और की बोर्ड पर नजर रखने के लिए केबिन में स्पाई कैमरा फिट कर दिया जाता है। जब ग्राहक मशीन में अपना कार्ड स्वैप करता है तो डिवाइस कार्ड को स्कैन कर लेती है। साथ ही केबिन में लगा कैमरा स्क्रीन और पासवर्ड रिकार्ड कर लेता है। ठगों के पास कई कार्डों की डिटेल होती है। इसके बाद उनके क्लोन तैयार किए जाते हैं। जिस खाते में बैलेंस अधिक होता है, उसमें से रकम निकाल ली जाती है।

ऐसे रखें सावधानी

एटीएम मशीन में कार्ड स्वैप करने वाले स्थान पर यदि स्कीमर लगा है, तो वह हिस्सा उठा हुआ दिखाई देगा। स्कीमर को आसानी से निकाला भी जा सकता है। एटीएम के अलावा यदि और कहीं स्पाई कैमरा लगा हो तो पक्का है कि जालसाजों ने मशीन में स्कीमर कैमरा लगाया हुआ है। ऐसा आभास होते ही उस मशीन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, साथ ही पुलिस को सूचना देनी आवश्यक है।

ये भी पढ़ें- एटीएम से भी कर सकते हैं पर्सनल लोन के लिए अप्लाई , इसके अलावा भी कई सुविधाएं

ये भी पढ़ें- एटीएम से अभी नहीं निकलेंगे 200 रुपये के नोट, करना पड़ेगा तीन महीने का इंतजार

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top