क्या आप जानते हैं, पेट्रोल-डीजल खरीदते समय आपसे वसूला जाता है यह शुल्क

क्या आप जानते हैं, पेट्रोल-डीजल खरीदते समय आपसे वसूला जाता है यह शुल्कपेट्रोल पंप पर बाइक में पेट्रोल भरता युवक।  फोटो : विनय गुप्ता

नई दिल्ली। देश के ज्यादातर लोगों को शायद ये पता नहीं होगा कि जब भी वो पेट्रोल पंप से पेट्रोल खरीदते हैं तो उसके भुगतान के रूप में वह पेट्रोल पंप पर शौचालय और पीने के पानी के लिए भी शुल्क अदा करते हैं। जी हां पेट्रोल पंपों पर यदि आपको शौचालय या पीने के पानी की सुविधा बेहतर नहीं दिखती है तो इसके लिए आप स्वच्छता ऐप के जरिए पेट्रोलियम मंत्रालय को शिकायत दे सकते हैं। क्या आपको जानकारी है कि आप प्रति लीटर डीजल खरीदने पर 6 पैसे और पेट्रोल की खरीद पर प्रतिलीटर 4 पैसे शौचालयों के मेंटिनेंस के रूप में देते हैं।

इस शुल्‍क वसूले जाने से प्राप्‍त पैसे से पेट्रोल पंपों पर अच्‍छे शौचालयों का निर्माण और उनका बेहतरीन मेंटिनेंस करना होता है, लेकिन ज्यादातर पेट्रोल पंपों पर शौचालयों और पीने के पानी की सुविधा बुरे हाल में ही होती है। टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में पेट्रोलियम मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा है कि उन पेट्रोल पंपों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जा रही है, जहां शौचालय की उचित व्‍यवस्‍था नहीं है या उनका मेंटिनेंस सही तरीके से नहीं किया जा रहा।

पेट्रोल पंप मालिको की दलील

हालांकि, पेट्रोल पंप मालिकों का दावा है कि इस तरीके से महीनेभर में रकम जमा जरूरत से कम होती है। ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष अजय बंसल के मुताबिक, एक पेट्रोल पंप हर महीने औसतन 1 लाख 70 हजार लीटर पेट्रोल-डीजल बेचता है। इस तरह उसे शौचालयों की देखभाल के लिए 9,000 रुपये का कमीशन मिल पाता है। उन्होंने कहा, 'शौचालयों की देखभाल के लिए तीन लोगों को रखना पड़ता है। पानी की आपूर्ति और अन्य जरूरी सामानों का खर्चा अलग से आता है।'

ये भी पढ़ें:- #KaifiyatExpressDerail : रेलवे में होगी दो लाख कर्मचारियों की भर्ती, ट्रैक का निरीक्षण करने वालों की होगी ट्रेनिंग

स्वच्छता ऐप इस्तेमाल करने की पेट्रोलियम मंत्रालय ने की अपील

पेट्रोलियम मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि डीजल-पेट्रोल की बिक्री मद से मिलनेवाला पैसा अपर्याप्त होने की उनकी बाद में दम है, लेकिन हकीकत यह है कि वो कमीशन भी लेते हैं। उन्होंने कहा कि यह बाध्यकारी है और उन्हें इसे पूरा करना ही होगा। हम लोगों से अपील करते हैं कि वो स्वच्छता ऐप का इस्तेमाल करें और इसके जरिए शौचलायों की बदहाली की जानकारी दें। इन शौचालयों का हर कोई इस्तेमाल कर सकता है।

ये भी पढ़ें:- यूपी में पांच दिन में दूसरा रेल हादसा: कैफियत एक्सप्रेस डंपर से टकराई, 74 जख्मी

क्या कहता है नियम

पेट्रोलियम मंत्रालय से जब भी किसी को पेट्रोल पंप खोलने का लाइसेंस मिलता है तो उसके प्रावधान में स्‍पष्‍ट तौर पर यह बात शामिल होती है कि पेट्रोल पंप पर पीने के पानी और शौचालय की व्‍यवस्‍था अनिवार्य रूप से होगी। तो ऐसे में अगल अगली बार आप किसी पेट्रोल पंप पर जाते हैं और शौचालय की बदहाली सामने आती है तो स्‍वच्‍छता ऐप के जरिए इसकी शिकायत पेट्रोलियम मंत्रालय से कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:- समय कितना बदल जाता है, जिस प्रतिमा का अनावरण किया था, उसी के नीचे बितानी पड़ी रात

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top