इंडियन रेलवे : पूछताछ का चक्कर छोड़िए, ट्रेन का पहला नंबर बताता है उसकी कैटेगरी

इंडियन रेलवे : पूछताछ का चक्कर छोड़िए, ट्रेन का पहला नंबर बताता है उसकी कैटेगरीमहाराजा एक्सप्रेस

ट्रेनें हमारे सफर का बड़ा हिस्सा है। कुछ लोगों की जिंदगी सफर में बीत जाती है। आप भी कभी न कभी ट्रेन में जरूर बैठे होंगे। लेकिन हम रेलवे के बारे में कितना जानते हैं... शायद बहुत कम। तभी तो रेलवे एनक्वायरी पर भीड़ लगी रहती है। जबकि खुद ट्रेन और बाकी जगहों पर लिखे रेलवे के नंबर बहुत कुछ जानकारी देते हैं। गांव कनेक्शऩ की कोशिश है कि आपको रेलवे के बारे में विस्तार से बताया जाए। इंडियन रेलवे के इस अंक में पढ़िए ट्रेन के नंबर क्या कहते हैं...

लखनऊ। भारतीय रेल से लगभग सभी का वास्ता है हर ट्रेन की पहचान उसके नाम और नंबर से होती है। ट्रेन का नंबर ही बताता है कि ट्रेन अप है या डाउन, ट्रेन एक्सप्रेस है या सुपरफास्ट आइये आपको बताते है कि नंबरों से कैसे पहचानें अपनी ट्रेन को।

ये भी पढ़ें- जब फ्रांस की इस महिला का आया भारत पर दिल, फेसबुक पर लिखा ये खूबसूरत पोस्ट

आपको बता दें कि भारतीय रेल का नंबर पांच डिजिट का होता है। ट्रेन का पहला नंबर 0 से 9 तक हो सकता है हर नंबर की अलग पहचान होती है। आइये जानें कैसे-

अगर ट्रेन का पहला नंबर 0 है तो वो स्पेशल ट्रेन है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 1 है तो वो लंबी दूरी की ट्रेन है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 2 है तो वो सुपरफास्ट है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 3 है तो वो कोलकाता के अर्बन ट्रेन के बारे में बताता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 4 है तो वो मैट्रोपॉलिटन शहरों को दर्शाता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 5 है तो वो पैसेंजर ट्रेन को दर्शाता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 6 है तो वो मेमू ट्रेन के बारे में दर्शाता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 7 है तो वो डीएमयू (डीजल मल्टी यूनिट)ट्रेन को दर्शाता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 8 है तो वो मौजूदा आरक्षित स्थिति के बारे में दर्शाता है।

अगर ट्रेन का पहला नंबर 9 है तो वो मुंबई की अर्बन ट्रेन की जानकारी देता है।

ये भी पढ़ें- अपनी कार और बाइक के एवरेज को लेकर परेशान रहते हैं, ट्रेन का जान हैरान रह जाएंगे

अब बात करते है ट्रेन के दूसरे और बाद के नंबर की। ट्रेन के दूसरे नंबरों की पहचान पहले नंबर के अनुसार ही तय होती है। पहले नंबर के बाद बाकी के चार डिजिट रेलवे जोन और डिवीजन को बतलाते है। तो चलिये जानते है-

0-कोंकण रेलवे

1-सेंट्रल रेलवे, वेस्टसेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे

2-सुपरफास्ट, शताब्दी, जन शताब्दी तो दर्शाता है। इन ट्रेन के अगले डिजिट जोन कोड को दर्शाते हैं

3-ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे

4-नॉर्थ रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे

5-नेशनल ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे

6-सदर्न रेलवे और साउथ वेस्टर्न रेलवे

7-साउथ सेंट्रल रेलवे और साउथ वेस्टर्न रेलवे

8-साउथ ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट कोस्टल रेलवे

9-वेस्टर्न रेलवे, नार्थ वेस्टर्न रेलवे और वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे

उदाहरण के तौर पर अगर ट्रेन का नंबर 12179 है तो

1 का मतलब लंबी दूरी की ट्रेन

2 का मतलब सुपरफास्ट

1 का मतलब ये ट्रेन सेंट्रल रेलवे, वेस्टसेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे में से किसी एक जगह की है।

79 का मतलब ये ट्रेन अप की है इसी तरह वापसी में इस ट्रेन का नंबर 80 हो जायेगा उसे डाउन ट्रेन कहा जायेगा।

(यह लखनऊ-आगरा इंटरसिटी का नंबर है जो लखनऊ से आगरा जाती है)

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top