उत्तराखंड में बारिश से सेब की फसल को भारी नुकसान

उत्तराखंड में बारिश से सेब की फसल को भारी नुकसान

रौबिन सिंह चौहान, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उत्तरकाशी (उत्तराखंड)। सेब की खेती करने वाले किसानों को इस बार अच्छे उत्पादन की उम्मीद थी, लेकिन पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश से किसान सेब बाहर नहीं भेज पा रहे हैं। अगर ऐसा ही रहा तो इस बार सेब किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के पुरोला ब्लॉक में पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश से अब तक 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। इसी आपदा से इस समय क्षेत्र के सेब के कास्ताकर भी घिरे हुए हैं।


पुरोला प्रदेश के फल पट्टी के लिए जाना जाता है, यहां से सेब पूरे देश में जाता है और हिमाचल के सेब के नाम से बिकता है। लेकिन आपदा से सड़क टूट गई है, जिससे संपर्क मार्ग टूट गए हैं। इसके चलते सेब का उठान नहीं हो पा रहा है, कई बाग लैंड स्लाइड के चपेट में आ गए हैं। आपदा प्रभावित उत्तरकाशी जिले में सबसे अधिक करीब नौ हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सेब की खेती होती है।

त्यूनी आराकोट-स्नेल- रोहडू सड़क मार्ग यातायात के लिए सुचारू किया गया है। हिमाचल की मंडी तक सेब पहुंचाने के लिए ये मार्ग बेहद अहम हैं। लेकिन कास्तकारों के कई गॉव अभी इस मार्ग से जुड़ नही पाए हैं। आराकोट, माकुडी, टिकोची, किराणु, चीवां, बलावट, दुचाणु, डगोली, बरनाली, गोकुल, मौंडा, जोटाड़ी, जाकटा, थापली में अभी संपर्क मार्ग खुल नहीं पाए हैं।

जिलाधिकारी आशीष चौहान बताते हैं, "आपदा से लगभग 1250 किसानों की बाग और लगभग 270 हेक्टेयर कृषि व उद्यान भूमि क्षतिग्रस्त हुई है।

उत्तराखंड के 11 जिलों के पर्वतीय इलाकों में 25318 हेक्टेयर क्षेत्र में सेब की पैदावार होती है। यह यहां की प्रमुख नकदी फसलों में से एक है। इस बार मौसम के साथ देने से सेब की रिकार्ड पैदावार थी, मगर आपदा ने इससे अच्छी आय के सपनों पर ग्रहण लगा दिया है।

उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल कहते हैं, "मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी कह चुके हैं कि सेब उत्पादकों को राहत दी जाएगी। इस कड़ी में आराकोट समेत अन्य क्षेत्रों में सेब की फसल को हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। क्षति के संबंध में जल्द रिपोर्ट देने को कहा गया है। इसके आधार पर प्रभावित सेब उत्पादकों को राहत देने के संबंध में निर्णय लिया जाएगा।

इस बार अच्छे उत्पादन की थी उम्मीद

उत्तराखंड में इस बार सेब का उत्पादन पिछले सालों की तुलना में 25 फीसदी तक ज्यादा रहा। पिछले साल राज्य में लगभग साठ हजार मीट्रिक टन सेब उत्पादन हुआ था, जो इस बार अस्सी हजार मीट्रिक टन से ज्यादा होने की संभावना है।

ये भी पढ़ें : लगातार बढ़ते तापमान से हिमाचल क्षेत्र में घट रहा सेब उत्पादन

ये भी पढ़ें : किसानों का दर्द: यही हाल रहा तो हम भी खेती छोड़ देंगे



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top