यूपी में धान की छनाई और सफाई पर 20 रुपए प्रति क्विंटल का बोनस, 1 अक्टूबर से शुरु होगी खरीद

सरकार के मुताबिक पिछली बार के मुकाबले इस बार धान किसानों को करीब २०० रुपए ज्यादा दिए जाएंगे हर क्विंटल पर

यूपी में धान की छनाई और सफाई पर 20 रुपए प्रति क्विंटल का बोनस, 1 अक्टूबर से शुरु होगी खरीद1 अक्टूबर से यूपी में शुरु होगी धान की सरकारी खरीद। फोटो गांव कनेक्शन

लखनऊ। मिशन 2019 को ध्यान में रखकर चल रही उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने धान किसानों को उतराई, धनाई और सफाई के लिए 20 रुपए प्रति क्विंटल का भुगतान करेगी। यानि दूसरे प्रदेशों के मुकाबले यूपी के किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य से 20 रुपए ज्यादा मिलेंगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली यूपी कैबिनेट ने प्रदेश में 50 लाख मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य रखा है। यूपी के सरकारी केंद्रों पर धान की खरीद 3 महीने चलेगी। प्रदेश के कुछ जिलों में धान की खरीद 1 अक्टूबर जबकि कुछ जिलों में खरीद 1 नवंबर से शुरु होगी। सरकार ने सभी क्रय एजेंसियों को आदेश दिया है कि किसानों को 72 घंटे के अंदर ऑनलाइन आरटीजीएस के माध्मय से भुगतान करें। 18 सितंबर को हुई कैबिनेट बैठक में सामान्य धान के निर्धारित समर्थन मूल्य 1750 और ग्रेड-ए धान के 1770 रुपए के समर्थन मूल्य पर 20 रुपए का अतिरिक्त भुगतान किया जाएगा। धान की उतराई, छनाई और सफाई आदि को खर्च को मिलाने के बाद किसानों को सामान्य धान के एक क्विंटल का मूल्य 1770 और ए ग्रेड के बदले 1790 रुपए का भुगतान किया जाएगा।

धान खरीद की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन रखी गई है। धान विक्रय से पूर्व किसानों का पंजीकरण अनिवार्य, जिसकी आखिरी तारीख 31 अगस्त थी। विभाग के अनुसार धान खरीद जोतबही या खाता नंबर अंकित कंप्यूटराइड् सत्यापित खतौनी, फोटोयुक्त पहचान पत्र और आधार कार्ड के जरिए की जाएगी।


सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक लखनऊ संभाग के जनपद सीतापुर, लखीमपुर, जबकि बरेली, मुरादाबाद, मेरठ और सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़ और झांसी में खरीद 1 अक्टूबर 2018 से शुरु होकर 31 जनवरी 2019 तक चलेगी। जबकि लखनऊ संभाग के लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव, आजमगढ़, वाराणसी, और मिर्जापुर एवं इलाहाबाद मंडलों में 1 नवबंर 2018 से 28 फरवरी 2019 सरकारी केंद्र पर किसान धान बेच सकेंगे।

कैबिनेट की बैठक के बाद सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने ट्वीटर पर लिखा, एफसीआई समेत पूरे प्रदेश में 9 एजेंसियों के जरिए 3000 केंद्रों पर खरीद होगी।" उन्होंने आगे लिखा कि पिछले वर्ष कॉमन धान की खरीद 1550 रुपए प्रति कुंतल जबकि ग्रेड ए धान की खरीद 1590 रुपए प्रति कुंतल पर की गई थी। किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में इन दोनों दरों में भाजपा सरकार ने प्रति कुंतल क्रमशः 200 रु. व 180 रु. की वृद्धि की है।

ये भी पढ़ें- किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए यूपी में होने वाले कृषि कुंभ की तैयारियां जारी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top