मांग बढ़ने से मेंथा तेल की कीमत बढ़ी

मांग बढ़ने से मेंथा तेल की कीमत बढ़ीमेंथा का तेल। फोटो- इंटरनेट से साभार

नई दिल्ली। मांग ज्यादा बढ़ने से मेंथा तेल का भाव आज बाजार में बढ़ गया। पिछले कुछ दिनों से इसकी कीमतों में तेजी लगातार बनी हुई है।

खपत वाले उद्योगों की मांग बढ़ने से स्थानीय वायदा बाजार में आज मेंथा तेल का भाव 1.34 प्रतिशत बढ़कर 1,603 रुपए किलो हो गया। स्टाक स्थिति कमजोर रहने के साथ ही उत्पादक केन्द्रों से आवक कमजोर पड़ने से मेंथा तेल के दाम में तेजी का रुख रहा। मेंथा तेल उत्पादन भी इस बार कम रहने का अनुमान है। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में इसी माह में डिलीवरी के लिए मेंथा तेल का भाव 21.20 रुपए यानी 1.34 प्रतिशत बढ़कर 1,603 रुपए किलो हो गया।

ये भी पढ़ें- अगेती मिंट तकनीकी से कम पानी में जल्दी तैयार होगी मेंथा की फसल

इसमें 233 लॉट के लिए कारोबार किया गया। इसी प्रकार फरवरी माह के लिए मेंथा तेल वायदा 18 रुपए यानी 1.13 प्रतिशत बढ़कर 1,618 रुपए किलो हो गया। इसमें 104 लॉट का कारोबार हुआ। बाजार सूत्रों के अनुसार मांग बढ़ने से सटोरियों की लिवाली बढ़ने से भाव चढ़े हैं। उत्तर प्रदेश के चंदोसी जैसे उत्पादक केन्द्रों से आवक कम पड़ने और हाजिर बाजार में खपत बढ़ने से भी भाव को मजबूती मिली।

ये भी पढ़ें- मेंथा आॅयल के दाम बढ़ने से जड़ भी हुई महंगी, अगले महीने से होगी बुवाई

भारत दुनिया में सबसे बड़ा मेंथा उत्पादक और निर्यातक है। एक मोटे अनुमान के मुताबिक मेंथा के कारोबार में 75 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी भारत की है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में सिंथेटिक मेंथा के आने के बाद से कारोबार में लगातार गिरावट हो रही थी और पिछले कई वर्षों में मेंथा ऑयल 700-1000 रुपए के बीच बिक रहा था।

देश में सबसे ज्यादा मेंथा की बुआई उत्तर प्रदेश के बाराबंकी और उसके आसपास होती है। यहां के जिला उद्यान अधिकारी जयकरण सिंह बताते हैं, हमारे जिले में पिछले वर्ष 67 हजार हेक्टेयर का रकबा था, जो इस बार 75 हजार हेक्टेयर तक पहुंच जाएगा।

(भाषा से इनपुट)

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए सुरक्षित है मेंथा पेराई की ये आधुनिक टंकी  

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top