दालों के निर्यात पर प्रतिबंध समाप्त, सभी तरह की दालों का हो सकेगा निर्यात

दालों के निर्यात पर प्रतिबंध समाप्त, सभी तरह की दालों का हो सकेगा निर्यातदलहन।

नई दिल्ली (भाषा)। खुले बाजार में दाल-दलहन की गिरती कीमतों के बीच सरकार ने आज सभी तरह की दालों के निर्यात पर लगे प्रतिबंध समाप्त कर दिये। इस व्यवस्था से किसानों को अपने उत्पादों का बेहतर लाभ उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिंमंडल की बैठक के बाद मीडिया को जानकारी देते हुए सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''सभी प्रकार के दलहनों का निर्यात खोले जाने से किसानों को उनकी कृषि उपज के लिये लाभकारी दाम मिल सकेंगे। इससे उन्होंने बुवाई के रकबे को बढ़ाने में प्रोत्साहन मिलेगा।''

ये भी पढ़ें - फूलों की खेती का यह कैलेंडर काम करे आसान, कम लागत में दिलाए ज्यादा मुनाफ़ा

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल ने सभी प्रकार की दलहनों के निर्यात पर लगी रोक हटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इससे यह सुनिश्चित किया जा सकेगा कि किसानों को अपने उत्पादों का विपणन करने के कई तरह के विकल्प प्राप्त हो सके।

ये भी पढ़ें - मिलिए ऐसे किसानों से जिन्हें अपनी नौकरी से ज्यादा किसानी में फायदा दिखा और छोड़ दी नौकरी

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीईए) ने खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण सचिव की अगुवाई वाली समिति को दलहन निर्यात एवं आयात नीति की समीक्षा करने के लिए अधिकृत किया गया। उन्हें मात्रात्मक प्रतिबंध, पूर्व पंजीकरण तथा घरेलू उत्पादन एवं मांग के आधार पर आयात शुल्क में बदलाव, स्थानीय एवं अंतरराष्ट्रीय कीमतें तथा वैश्विक व्यापार के आकार जैसे उपायों उप विचार करने को कहा गया।

ये भी पढ़ें - फेसबुक और व्हाट्सऐप पर खेती-किसानी का ज्ञान सीख मुनाफे की फसल काट रहे किसान

उन्होंने कहा कि दलहनों का निर्यात, दलहनों के अतिरिक्त उत्पादन के लिए एक वैकल्पिक बाजार प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि इससे देश और निर्यातकों को उनका निर्यात बाजार फिर से हासिल करने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें - कभी गरीबी की वजह से छोड़ना पड़ा था घर, अब फूलों की खेती से कमाता है करोड़ों रुपये

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top