Bharat Bandh Live Updates: कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद आज, जानिए कब क्या कहां हुआ?

Bharat Bandh Live Updates: कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद आज, जानिए कब क्या कहां हुआ?

कृषि कानूनों के विरोध में आज किसान संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है। इस दौरान किसान 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक चक्का जाम कर रहे हैं, वहीं आज दिन भर भारत बंद के दौरान सभी दुकान और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे, ऐसी अपील किसान संगठनों ने की है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि चक्का जाम या दुकान बंद करने के लिए कोई जोर जबरदस्ती नहीं की जाएगी और जिन्हें किसानों का समर्थन देना होगा, वे खुद आगे आएंगे।

किसानों के इस भारत बंद का कई राजनीतिक दलों ने समर्थन भी दिया है। किसान संगठनों ने राजनीतिक दलों का समर्थन किया है लेकिन यह भी हिदायत दी है कि वे अपनी पार्टी का झंडा लेकर आंदोलन में शामिल ना हो बल्कि किसानों के झंडे तले ही वे अपना प्रदर्शन करें। राजनीतिक दलों के नेताओं को मंच से भाषण देने की भी इजाजत नहीं है।

बहरहाल दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश सहित देश भर में भारत बंद का असर दिखने लगा है। कहीं यह बंद बहुत व्यापक है तो कहीं इसका छिटपुट असर दिख रहा है। हाइवे जाम की जा रही है, दुकानें बंद हैं और मंडियों में भी किसानों और सब्जियों-फलों की आवक कम हुई है।

महाराष्ट्र के वर्धा में किसान आंदोलन को समर्थन

महाराष्ट्र के वर्धा जिले के किसानों ने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन देते हुए आज भारत बंद के आह्वान पर प्रदर्शन किया। आज कई राजनीतिक पार्टी और किसान संगठनों की और से छत्रपति शिवाजी महाराज चौक से जिलाधिकारी कार्यालय पर सैकड़ो की संख्या में नारेबाजी करते हुए मोर्चा निकाला और कृषि कानूनों को हटाने की मांग की। इस दौरान शहर का बाजार, कृषि मंडी पूरी तरह से बंद रहा।

ये भी पढ़ें- पंजाब हरियाणा के किसान आंदोलन क्यों कर रहे हैं? ये समझने के लिए अपने खाने की थाली और एमएमपी पर सरकारी खरीद का आंकड़ा देखिए

फोटो और इनपुट- वर्धा से चेतन बेले

उत्तर प्रदेश में मिला जुला असर

वहीं उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में किसान सड़क पर आकर प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि सूचना पर तत्काल पहुंचे थानाध्यक्ष ने समझा-बुझाकर ज्ञापन देते हुए किसानों को वापस करा दिया है। हालांकि कई किसान जिले के अलग-अलग हिस्सों में अभी भी बने हुए हैं। वहीं बाजारों और मंडियों में भारत बंद का काफी कम ही असर देखने को मिला है।

उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों सीतापुर, शाहजहांपुर, गोरखपुर, संत कबीर नगर और अलग-अलग हिस्सों में भी भारत बंद का मिला जुला असर देखने को मिल रहा है। उत्तर प्रदेश के प्रमुख किसान संगठन भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में अलग-अलग जिला मुख्यालयों पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, जिनका समर्थन विपक्षी दल के नेता भी दे रहे हैं। इन जगहों पर नेताओं को पुलिस प्रशासन द्वारा हिरासत में भी लिया जा रहा है।

फोटो और इनपुट- बाराबंकी से वीरेंद्र सिंह

दिल्ली तक पहुंचे तमिलनाडु के किसान

उधर दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर सुदूर दक्षिणी राज्य तमिलनाडु से सैकड़ों किसान आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे है। केंद्र की मोदी सरकार के अलावा उनका गुस्सा तमिलनाडु के राज्य सरकार से भी है।

बिहार में भारत-बंद का मिला जुला असर

बिहार में भारत बंद और किसान आंदोलन का मिला जुला असर दिख रहा है। बिहार के कृषि प्रधान जिलों कैमूर व बक्सर में जहां सुबह में बाजार बंद रहा, वहीं अब अब धीरे धीरे सभी दुकानें खोली जा रही हैं। इस बिल को लेकर आम किसानों में नाराजगी है लेकिन पूर्णरूप से सभी किसान उसके विरोध में नही आए हैं।वही सुरक्षा को देखते हुए जिले के अधिकांश पेट्रोल पंप बंद किए गए है।

बिहार से इनपुट व फोटो अंकित कुमार सिंह



Updating...

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.