दुधवा के ये कोरोना योद्धा 'वर्क फ्रॉम होम' के तहत दे रहे अपनी ड्यूटी को अंजाम

लॉक डाउन के दौरान गैंडों की निगरानी और गश्त ड्यूटी में जुटे हुए हैं दुधवा के हाथी

दुधवा के ये कोरोना योद्धा वर्क फ्रॉम होम के तहत दे रहे अपनी ड्यूटी को अंजाम

- शिशिर शुक्ला

कोरोना वायरस जैसी महामारी के बीच इंसानी जीवन की रक्षा के लिये जहां डाक्टर, पुलिस कर्मी और सफाई कर्मी अपनी जान पर खेलकर ड्यूटी को अंजाम देने में लगे हुए हैं, वहीं दुधवा टाइगर रिजर्व के दुर्लभ वन्यजीवों और वन सम्पदा की रक्षा के लिये बेजुबान हुनरमंद हाथी भी पूरी शिद्दत से अपना काम कर रहे हैं।

दुधवा नेशनल पार्क के अलग अलग रेंजों में तैनात ये हाथी गैंडों की सुरक्षा की निगरानी के साथ-साथ शिकारी और वन माफियाओं पर भी नजर रख रहे हैं। वे प्रकृति पर हमला करने वाले सभी दुश्मनों पर गश्त के दौरान पैनी नजर बनाये हुए हैं। प्रशासन भी अपने इन कोरोना योद्धाओं के खान पान पर पूरा ख्याल रख रहा है।

लॉक डाउन के बीच शिकारी, वन माफियाओं के अलावा गैंडों पर निगरानी के लिये दुधवा में कोरोना योद्धा के रुप में मौजूद 23 हुनरमंद हाथियों का दल लगा हुआ है, जो अलग-अलग रेंजों में रहकर अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहा है। इनमें किशनपुर, बेलरायां, सलूकापुर, दुधवा आदि क्षेत्र शामिल हैं।

देश में कोरोना वायरस की दस्तक के बीच दुधवा टाइगर रिजर्व के 886 वर्ग किमी जंगल में विचरण करने वाले दुर्लभ वन्यजीव, वन सम्पदा और गैंडा पुनर्वास परियोजना फेज वन और टू में रह रहे एक सिंग वाले विशालकाय गैंडों की निगरानी के लिये कोरोना योद्धा के रुप में दुधवा के हुनरमंद हाथी तीनों टाइम अपनी ड्यूटी को अंजाम देने में लगे हुए हैं।

पार्क प्रशासन भी वन्यजीवों और वन सम्पदा की रक्षा में लगे इन कोरोना योद्धाओं के खान पान पर पूरा ख्याल रख रहा है। हरे चारे के अलावा ड्यूटी में लगे हाथियों के दल को रोटी, गुड़, चावल, गन्ना, आटा, फल आदि स्वादिष्ट भोजन भी परोसा जा रहा है जिससे उनके शरीर में किसी प्रकार के पोषक तत्वों की कमी ना हो और वे बेहतर ढंग से अपना कार्य कर सकें।

ये भी पढ़ें- दुर्गा: मरने के कगार पर थी, अब दुधवा की सबसे दुलारी और शरारती हाथी है


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.