किसान आंदोलन: किसान संगठनों का दावा, 9 जगहों से डेढ़ लाख ट्रैक्टर करेंगे दिल्ली में प्रवेश

संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी ट्रैक्टर परेड कार्यक्रम की पूरी जानकारी, किसान नेता गुरूनाम सिंह चढ़ूनी करेंगे ट्रैक्टर परेड की अगुवाई

Arvind ShuklaArvind Shukla   25 Jan 2021 1:13 PM GMT

किसान आंदोलन: किसान संगठनों का दावा, 9 जगहों से डेढ़ लाख ट्रैक्टर करेंगे दिल्ली में प्रवेश

- अरविंद शुक्ला/ दया सागर

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड की तैयारियां पूरी हो चुकी है। मंगलवार, सुबह 10 बजे से अलग-अलग 9 स्थानों से लगभग 1.5 लाख ट्रैक्टर दिल्ली में प्रवेश करेंगे, ऐसी घोषणा किसान आंदोलन की अगुवाई कर रही संयुक्त किसान मोर्चा ने किया है। हालांकि इससे पहले दिल्ली पुलिस ने कहा था कि उन्होंने किसान मोर्चा को सिर्फ 3 रूट पर ही परेड करने की इजाजत दी है। इसके अलावा गणतंत्र दिवस समारोह को देखते हुए एक सीमित संख्या में ही ट्रैक्टर को राजधानी में प्रवेश करने की अनुमति है। ऐसे में दिल्ली पुलिस और किसान संगठनों के बीच संघर्ष की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है।

ट्रैक्टर परेड से पहले किसान मोर्चा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि दिल्ली के अलग-अलग 9 बॉर्डर से किसान दिल्ली में प्रवेश करेंगे। किसान नेताओं ने किसानों से परेड के दौरान अनुशासन और शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ट्रैक्टर पर 5 से अधिक लोग नहीं रहेंगे, जबकि परेड का सही ढंग से संचालन करने के लिए 3000 से अधिक वालंटियर और 100 से अधिक एंबुलेंस रास्ते में तैयार होंगे। इसमें महिला वालंटियर भी शामिल हैं।

किसी भी तरह की आपात स्थिति से बचने के लिए 9 समितियां, कंट्रोल रूम और कंट्रोल नंबर भी जारी किए गए हैं, वहीं मीडिया से संयोजन के लिए मीडिया समिति भी बनाई गई है। इस किसान परेड की संपूर्ण अगुवाई हरियाणा के भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरूनाम सिंह चढ़ूंगी करेंगे। किसान संगठनों ने यह भी दावा किया कि उन्हें इन ट्रैक्टरों के दिल्ली में प्रवेश करने के लिए दिल्ली पुलिस से आदेश और अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) भी मिल गया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली पुलिस की NOC दिखाते किसान मोर्चा के नेता (फोटो- अरविंद शुक्ला)

जबकि दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने सोमवार दोपहर में बताया कि किसानों के ट्रैक्टर रैली के लिए तीन रूट्स पर सहमति बनी है, जहां पर दिल्ली पुलिस के जवान अभी से तैनात हैं। सिंघु और टीकरी बॉर्डर के किसानों को करीब 64 किलोमीटर और गाजीपुर बॉर्डर के लोगों को 46 किलोमीटर की परेड निकालने की अनुमति दी गई है। राजधानी में गणतंत्र दिवस समारोह को देखते हुए पुलिस अधिक सतर्कता बरत रही है।

अगर हम दिल्ली के तीन प्रमुख बॉर्डर की बात करें तो सिंघु बॉर्डर के किसान संजय गांधी ट्रांसपोर्ट होते हुए बवाना तक जाएंगे, वहीं टिकरी बॉर्डर के किसान नांगलोई, नजफगढ़ होते हुए ढांसा तक रैली निकलेंगे। जबकि गाजीपुर बॉर्डर के किसान यूपी गेट, अप्सरा बॉर्डर होते हुए दुहई तक परेड करेंगे। परेड में सबसे आगे महिलाएं, फिर किसान नेता, फिर बुजुर्ग और अंत में युवा रहेंगे।

ये भी पढ़ें- गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड की ज़बर्दस्त तैयारी, कईं राज्यों के किसान ट्रैक्टर लेकर दिल्ली रवाना


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.