जवान बेटे की शराब से मौत के बाद सांसद ने लिखी भावनात्मक पोस्ट: शुरु की अनोखी मुहिम, लोग कर रहे सराहना

लखनऊ के मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर ने अपने बेटे की नशे के कारण मौत के बाद नशामुक्त समाज बनाने को लेकर एक अभियान छेड़ दिया है। उनके इस मुहिम को सोशल मीडिया पर व्यापक समर्थन भी मिल रहा है।

जवान बेटे की शराब से मौत के बाद सांसद ने लिखी भावनात्मक पोस्ट: शुरु की अनोखी मुहिम, लोग कर रहे सराहना

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज संसदीय क्षेत्र से सांसद कौशल किशोर शराबबंदी और नशामुक्ति को लेकर एक व्यापक अभियान शुरू करने जा रहे हैं। हालांकि वह पहले से ही इसको लेकर काफी सक्रिय रहते हैं, लेकिन उन्होंने अपने इस नशामुक्ति अभियान को एक कदम आगे ले जाने का फैसला किया है। उन्होंने एक व्यक्तिगत नुकसान के बाद ऐसा करने का फैसला किया है।

दरअसल बीते 19 अगस्त को नशे के कारण सांसद के बेटे की मौत हो गयी। इस दौरान वह कोविड पॉजिटिव होनर के कारण अस्पताल में एडमिट थे। उनके 28 वर्षीय बेटे आकाश किशोर अपने पीछे पत्नी और दो वर्षीय बच्चे को छोड़ गए हैं। अब कौशल किशोर नशामुक्ति और शराबबंदी को लेकर लखनऊ से एक व्यापक नशा मुक्ति आंदोलन शुरू करने जा रहे हैं और उन्होंने हर महीने 1000 युवकों का नशा छुड़ाने के संकल्प लिया है।

उन्होंने इसको लेकर फेसबुक पर एक लंबा भावनात्मक पोस्ट लिखा है। वह लिखते हैं-

मेरे बेटे आकाश किशोर उर्फ जेबी (28 वर्ष) की मृत्यु चोरी छुपे शराब पीने से ज्वाइंडिस हो जाने और लीवर डैमेज हो जाने के कारण विगत 19 अक्टूबर 2020 को हो गई। मेरा बेटा अपने पीछे अपनी पत्नी और एक 2 वर्षीय बच्चे को छोड़ गया है। हमने पूरा प्रयास किया कि बेटा आकाश किशोर नशा छोड़ दे, कई बार नशामुक्ति केंद्रों में भर्ती भी कराया। उसने नशा छोडा भी लेकिन कुछ लोग उसके पीछे लगे रहे।

जब मै करोना पॉजिटिव होकर एडमिट हो गया तो फिर से उसने शराब पी ली जिसके कारण उसका लीवर डैमेज हो गया और अंत में उसकी मृत्यु हो गई। हम और हमारा पूरा परिवार इस अचानक हुई क्षति से बहुत आहत हैं। हमारे बच्चे, पत्नी, भाई और भतीजे बहुत ही दुखी हैं। हमने संकल्प लिया है कि नई पीढ़ी के लड़कों को कोई न कोई तो पहली बार शराब पिलाता है नशा कराता है। कोई भी अपने आप नशा नहीं करता, उन्हें कोई न कोई नशा करने के लिए प्रेरित करता है। मेरा बेटा भी इसी का शिकार हुआ।

ये भी पढ़ें- अपने ज़ख्म दिखाना आसान नहीं होता... अगर आपके परिवार में किसी को शराब की लत है तो वीडियो जरुर देखें

मैंने बहुत लोगों का नशा छुड़वा दिया। शराब, बीड़ी, सिगरेट, मसाला छुड़वा दिया, लेकिन मेरा खुद का बेटा शराब नहीं छोड़ सका, मुझे इस बात की बहुत तकलीफ है। इसलिए मैने निर्णय लिया है कि नई पीढ़ी के लोग नशे से बचें। मेरे बेटे की तरह किसी दूसरे का बेटा या बेटी नशे का शिकार होकर कम उम्र में अपनी जान न गंवाये। इसलिए नई पीढ़ी को नशे से बचाने के लिए आंदोलन करना पड़ेगा और इसके लिए हमने 3 दिसंबर 2020 को लखनऊ के गांधी भवन सभागार में प्रातः 11:00 बजे से एक नशा मुक्त समाज बनाने का आंदोलन शुरू करने का निर्णय लिया है।

3 दिसंबर 2020 को एक हजार नवयुवक यह संकल्प लेंगे कि हम किसी भी प्रकार का नशा अपने जीवन में नहीं लेंगे और अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को नशे से बचाने का काम करेंगे यह एक हजार नवयुवक हर महीने एक और युवक को अपने साथ जोड़ेंगे और उससे भी संकल्प कराएंगे कि वह अपने जीवन में किसी भी प्रकार का नशा नहीं करेगा। इसके लिए हमने निर्णय लिया है कि संकल्प लेते समय हम सौ रुपए संकल्प शुल्क भी जमा करायेंगे ताकि हम आंदोलन को देशव्यापी बना सके और कुछ वर्षों में हम लोगों को नशा छोड़ने के लिए सोचने पर मजबूर कर देंगे यह हमारा संकल्प है।

लोगों से इस अभियान जोड़ने की अपील करते हुए उन्होंने लिखा, "हम आपकी मदद चाहते हैं। हम जानते हैं कि बहुत से परिवार नशे की वजह से बर्बाद हो गए हैं, लोग बर्बाद हो गए हैं। लोगों की जानें चली गई हैं, लोगों के घर टूट गए हैं। बच्चे बेघर हो गए हैं। अनाथ हो गए हैं। स्थिति बहुत खराब है। सरकार नशाबंदी का कानून भले ले आए लेकिन जब तक पीने वाले लोग रहेंगे, नशा करने वाले लोग रहेंगे तो चोरी छुपे ब्लैक मार्केटिंग में भी नशे को करते रहेंगे। जब तक समाज इसके लिए तैयार नहीं होगा तब तक नशा मुक्त समाज नहीं बन सकता, नशामुक्त भारत नहीं बन सकता। इसलिए इस मुहिम में हमारे साथ आप जुड़ने का कष्ट करें। मेरी हाथ जोड़कर विनती है कि मेरे बेटे आकाश किशोर को नशे के कारण पीलिया हुई इसकी वजह से लीवर खराब हुआ, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। उसका 2 वर्ष का बच्चा बिन बाप का हो गया, उसकी पत्नी सौभाग्यवती से विधवा हो गई। हम लोगों ने अपना बेटा खोया उसके दोस्तों ने अपना मित्र खोया उसकी प्रतिभा एक बहुत मिलनसार थी। अब और किसी का बेटा किसी का पति किसी का भाई नशे की वजह से न मरे इसलिए इस आंदोलन में नशा मुक्त समाज बनाने में आप हमारा सहयोग करने का कष्ट करें।"

सांसद कौशल किशोर के इस पहल का लोगों को खूब समर्थन मिल रहा है। लोगों ने उनके इस कदम पर साथ देने और हर समर्थन देने की बात कही है। उनके इस पोस्ट को अब तक 500 से अधिक शेयर और 800 से अधिक कमेंट मिल चुका है।




ये भी पढ़े- शराब ठंड नहीं भगाती, अस्पताल पहुंचाती है, पैग के नुकसान गिन लीजिए

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.