यूपी पंचायत चुनाव: यूपी के 18 जिलों में नामांकन तीन अप्रैल से, जानिए क्या-क्या लगेंगे कागज

यूपी के सहारनपुर, गाजियाबाद, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, महोबा, प्रयागराज, रायबरेली, हरदोई, अयोध्या, श्रावस्ती, संतकबीर नगर, गोरखपुर, जौनपुर और भदोही जैसे 18 जिलों में तीन और चार अप्रैल को पर्चे दाखिल होंगे।

Ajay MishraAjay Mishra   3 April 2021 5:14 AM GMT

यूपी पंचायत चुनाव: यूपी के 18 जिलों में नामांकन तीन अप्रैल से, जानिए क्या-क्या लगेंगे कागज

उत्तर प्रदेश के 18 जिलों में आज से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सभी फोटो: गाँव कनेक्शन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के 18 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए नामांकन तीन और चार अप्रैल को होंगे। ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य और प्रधान पद के लिए ब्लॉकों में पर्चे दाखिल होंगे, जबकि जिला पंचायत परिसरों में जिला पंचायत सदस्य पद की नामांकन प्रक्रिया चलेगी। यहां के रिटर्निंग ऑफीसर सीडीओ होते हैं। जबकि ब्लॉकों में आरओ के लिए जिला स्तरीय विभागों के अधिकारी, एई, इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य आदि को जिम्मेदारी दी गई है।

राज्य के अपर निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने जारी किए आदेश में कहा है कि ब्लॉक और जिला पंचायतों में नामांकन पत्र दाखिल करने का समय सुबह आठ से शाम पांच बजे तक है। पांच और छह अप्रैल को पर्चों की जांच भी सुबह आठ बजे से कार्य समाप्त तक होगी। पर्चा वापस लेने का समय सात अप्रैल को सुबह आठ से दोपहर तीन बजे तक रहेगा। उसी तारीख को दोपहर तीन बजे के बाद चुनाव चिह्न बांटे जाएंगे। मतदान 15 अप्रैल को सुबह सात से शाम छह बजे तक चलेगा। मतगणना सभी जिलों में दो मई को एक साथ ही सुबह आठ बजे से शुरू होगी।

इन जिलों में चलेगी आज से नामांकन प्रक्रिया

सहारनपुर, गाजियाबाद, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, महोबा, प्रयागराज, रायबरेली, हरदोई, अयोध्या, श्रावस्ती, संतकबीर नगर, गोरखपुर, जौनपुर और भदोही में तीन और चार अप्रैल को पर्चे दाखिल होंगे।

प्रत्याशियों के लिए नोड्यूज है जरूरी, बकाएदार नहीं लड़ पाएंगे चुनाव

पंचायत चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के पर्चे में अदेय प्रमाण पत्र यानि नोड्यूज भी लगेगा। चारों पदों के लिए जिला पंचायत में अलग-अलग शुल्क निर्धारित है, जबकि ब्लॉकों में इसका कोई शुल्क नहीं है। अगर शुल्क लिया जाता है तो उसकी रसीद भी जरूर मिलेगी। जिला पंचायत में ग्राम पंचायत सदस्य (वीडीसी) के लिए चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों को नोड्यूज के लिए 250 रुपए देना होगा। क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) और प्रधान पद का चुनाव लड़ने वालों को 500 रुपए शुल्क देना पड़ेगा। जिला पंचायत सदस्य पद का नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान 750 रुपए नोड्यूज रसीद के लगेंगे।


प्रत्याशियों को यह कागज लगाने पड़ेंगे

ग्राम पंचायत सदस्य के आरक्षित पद पर पर्चा भरने के दौरान प्रारूप अ और जाति प्रमाण पत्र लगेगा।

प्रधान, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य के आरक्षित पदों के लिए प्रारूप ब एवं जाति प्रमाण पत्र लगेगा।

ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए चल-अचल सम्पत्ति, अपराधिक और शैक्षिक योग्यता के लिए घोषणा पत्र ही काम करेगा।

प्रधान, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ने वालों को इसके लिए शपथ पत्र देना होगा।

मतदाता सूची, जिसमें प्रत्याशी का नाम हो, की स्वप्रमाणित कॉपी भी लगेगी।

जमानत राशि का चालान/385 शासकीय रसीद लगेगी।

अदेय प्रमाण पत्र ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत, जिला पंचायत और सहकारी समितियां का लगेगा।

प्रत्याशी और प्रस्तावक का एक-एक रंगीन फोटो भी देना होगा।

नामांकन पत्रों का यह है शुल्क

150 रुपए का ग्राम पंचायत सदस्य पद का पर्चा मिलेगा।

300 रुपए में प्रधान पद का नामांकन पत्र मिलेगा।

300 रुपए में क्षेत्र पंचायत सदस्य पद का भी पर्चा है।

500 रुपए में जिला पंचायत सदस्य का नामांकन है।

जमानत राशि और इतना कर सकेंगे खर्च

वीडीसी यानि ग्राम पंचायत सदस्य पद का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों को 500 रुपए जमानत राशि जमा करनी होगी और अधिकतम खर्च 10 हजार रुपए कर सकेंगे। प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशियों को दो-दो हजार रुपए जमानत राशि और अधिकतम खर्च सीमा 75-75 हजार रुपए निर्धारित है। जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशियों को चार हजार रुपए जमानत राशि देनी होगी। चुनाव का अधिकतम खर्च डेढ़ लाख रुपए है।

इन लोगों को आधी राशि देनी होगी

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग या महिला अगर नामांकन पत्र खरीदती है तो आधा हिस्सा ही देना पड़ेगा। जमानत राशि भी आधी लगेगी।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.