Top

उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड रिजल्ट 2020: 81.99 फीसदी छात्र पास, मेरिट लिस्ट में लड़कियो का दबदबा

जहां 84.42 फीसदी छात्राएं पास हुईं, वहीं उत्तीर्ण होने वाले छात्रों का प्रतिशत 79.86 ही रहा। सफल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या 1,15,650 और फेल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या 25,402 रही। यूपी बोर्ड की तरह प्रदेश सरकार मदरसा बोर्ड के टॉपर्स को भी आर्थिक सहायता और टेबलेट देगी।

Ajay MishraAjay Mishra   2 July 2020 6:08 AM GMT

उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड रिजल्ट 2020: 81.99 फीसदी छात्र पास, मेरिट लिस्ट में लड़कियो का दबदबा

उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद का परीक्षा परिणाम पहली जुलाई को घोषित किया गया। कुल 81.99 फीसदी परीक्षार्थी सफल घोषित हुए। उत्तीर्ण प्रतिशत में छात्राओं ने छात्रों को पछाड़ा। जहां 84.42 फीसदी छात्राएं पास हुईं, वहीं छात्रों का प्रतिशत 79.86 ही रहा। सफल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या 1,15,650 और फेल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या 25,402 रही। मदरसा बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट madarsaboard.upsdc.gov.in पर जाकर रिजल्ट देखा जा सकता है।

मदरसा बोर्ड द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि सत्र 2019-20 के लिए वार्षिक परीक्षाएं 25 फरवरी से पांच मार्च तक प्रदेश के 552 केंद्रों पर चलीं। इसमें 97,348 छात्र और 84,911 छात्राओं ने परीक्षा दी। 1 लाख 38,241 परीक्षार्थी रेगुलर (संस्थागत) और 44,017 परीक्षार्थी प्राइवेट (व्यक्तिगत) थे। परीक्षा से 41,207 परीक्षार्थी गैरहाजिर रहे।

कामिल में बदायूं के मदरसा अफजल उल उलूम, शहबाजपुर के शहसवान ने मेरिट में पहली रैंक पाई, वहीं फाजिल में भी इसी जिले के मदरसा अलजामे अतुल रिजविया बरकतुल उलूम के छात्र ने पहला और रामपुर के मदरसा दारुल उलूम जामिया रजविया केमरी के अहमद हसन ने दूसरा स्थान पाया। सेकेंड्री में कानपुर नगर के मदरसा इस्लामिया के छात्र कैफ खान, बस्ती के मदरसा दारुल उलूम अलीमिया निस्वान की छात्रा हसीना खातून और कासगंज के मदरसा हबीब खान मेमोरियल एजूकेशन सेंटर की छात्रा गुलशन ने क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया।

सीनियर सेकेंड्री में रायबरेली के मदरसा ईदारा ई शहरिया यूपी खिन्नी ताला से मोहम्मद वकील, अमेठी के मदरसा दारुल उलूम गौशिया तेगिया रसूलाबाद की शबनूर बानो और शहजहांपुर के मदरसा नूरुल हुदा बिजलीपुरा के छात्र रशीद ने क्रमश: पहला, दूसरा व तीसरा स्थान पाया है।

प्रदेश की मेरिट सूची में कन्नौज, फर्रुखाबाद, बदायूं, देवरिया, कुशीनगर, कासगंज, अलीगढ़, गाजीपुर, रामपुर, मुरादाबाद, सिद्धार्थनगर, अयोध्या, मिर्जापुर, महाराजगंज, आजमगढ़, अमेठी, रायबरेली व बागपत जिलों के छात्र-छात्राएं शामिल हैं।

कन्नौज जिले में 112 मदरसा की परीक्षाएं नौ केंद्रों पर मार्च के पहले सप्ताह में सम्पन्न हुई थीं। 27 जून को जारी हुए यूपी बोर्ड परीक्षा परिणाम के बाद पहली जुलाई को मदरसा बोर्ड का भी परिणाम जारी कर दिया गया। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी छोटेलाल ने बताया, "बहुत ही खुशी की बात है कि कन्नौज के मदरसों के बच्चे प्रदेश की मेरिट लिस्ट में आए हैं। इससे पहले सात छात्र-छात्राएं नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा में सफल हुए हैं। कुछ लोग मदरसों को बदनाम करते हैं। जल्द ही मेधावियों को सम्मानित किया जाएगा।"

गौरतलब है कि इत्रनगरी कन्नौज के छात्रों ने प्रदेश की मेरिट सूची में अपनी खुशबू बिखेरी है। जनपद के अलग-अलग कक्षाओं के सात छात्र-छात्राओं का नाम सूबे की लिस्ट में आया है। जल्द ही इनको एक लाख रुपए का चेक, टैबलेट, मेडल और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी में कम्प्यूटर, गणित और विज्ञान में पहला, दूसरा और तीसरा स्थान पाने वालों को 51 हजार रूपये का चेक, टैबलेट, मेडल और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

फाजिल में मदरसा एमएकेए एजूकेशन सेंटर गुरसहायगंज, कन्नौज के छात्र मोहम्मद नासिर ने 82.63 फीसदी अंक लाकर प्रदेश में तीसरी रैंक पाई है, वहीं मदरसा शरीफन उलूम सौरिख के छात्र कमरुद्दीन खान ने 81 फीसदी अंक लाकर सूबे में नौंवी रैंक पाई।

इसी तरह कामिल में मदरसा बरकतिया उलूम अमीनुल उलूम छिबरामऊ की छात्रा जसमीन बानो ने 82.94 फीसदी अंक लाकर प्रदेश में दूसरी रैंक पाई, वहीं मदरसा अरबिया फैज ए आम स्कूल तिर्वागंज के छात्र मोहम्मद अफजल ने भी 82.94 फीसदी अंक पाकर दूसरी रैंक पर कब्जा जमाया। जबकि मदरसा अरबिया फैजुल उलूम तालग्राम के शादमन अहमद ने 82.13 फीसदी अंक लाकर प्रदेश में पांचवां रैंक पाया।

यह भी पढें- ''हम मदरसा शिक्षक हैं, लेकिन हमारा हाल भिखारी से भी बदतर कर दिया है''

रमजान विशेष : मदरसे में कुरान की आयतें और रामायण की चौपाइयां साथ-साथ


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.