Top

Union budget 2020: जानिए क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा?

Union budget 2020: जानिए क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा?

लखनऊ। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को सत्र 2020-21 का केंद्रीय बजट पेश किया। आम बजट के बाद दैनिक प्रयोग की कई ऐसी चीजें हैं जो सस्ती या महंगी हो जाएंगी, जिसका सीधा प्रभाव आम लोगों की जेब पर पड़ेगा। जूता, चप्पल, सैंडल सहित फुटवियर के सामान महंगे हो जाएंगे क्योंकि आम बजट में फुटवियर पर सीमा शुल्क में 10 फीसदी का इजाफा किया है। इससे पहले सीमा शुल्क (कस्टम) 25 फीसदी था जबकि अब यह बढ़कर 35 फीसदी हो गया है।

इसके अलावा भविष्य में फर्नीचर उत्पादों के महंगे होने की संभावना है। फर्नीचर के सामानों पर भी कस्टम शुल्कव 5 फीसदी बढ़ाकर 20 फीसदी से 25 फीसदी कर दिया गया है। सिगरेट और अन्य तंबाकू पदार्थ भी महंगे होंगे क्योंकि इन पर उत्पागद शुल्के बढ़ाने का प्रस्तायव बजट में किया गया है। हालांकि बीड़ी पर शुल्कg दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

इसके अलावा पेट्रोल डीजल, सोना, काजू, ऑटो पार्ट, सिंथेटिक रबर, ऑप्टिकल फाइबर, स्टेनलेस प्रोडक्ट, लाउडस्पी कर, वीडियो रिकॉर्डर, पीवीसी, टाइल्स, AC, सीसीटीवी कैमरा और मेडिकल डिवाइस जैसे उत्पादों के भी महंगे होने की संभावना हैं। टायर पर शुल्क की दर 10-15 फीसदी से बढ़ाकर 40 फीसदी करने का प्रस्ताव रखा गया है, इसलिए टायर भी महंगे होंगे।

कोटेड पेपर, पेपर बोर्ड और हैंड मेड पेपर पर आयात शुल्क दोगुना कर 20 फीसदी करने पर विचार करने को कहा गया है, अगर ऐसा होता है तो ये उत्पाद भी महंगे हो जाएंगे। घरेलू उपकरणों पर एक्साइज ड्यूटी में 20 फीसदी का इजाफा किया गया है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि बजट के बाद मोबाइल फोन भी महंगे हो जाएंगे। वहीं स्टेशनरी के सामानों पर भी कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसद कर दिया गया है।

बजट के बाद होम लोन लेना सस्ताि हो सकता है। वहीं इलेक्ट्रिक कार, तेल, शैंपू, टूथपेस्ट, डिटर्जेंट, बिजली का सामान, सैनेटरी वेयर, ब्रीफ केस, बैग, बोतल, कंटेनर, चश्मों के फ्रेम, गद्दे, बिस्तर, बांस का फर्नीचर, सूखा नारियल, अगरबत्ती, पास्ता, नमकीन, म्योनीज़, सैनेटरी नैपकिन, चॉकलेट, कस्टर्ड पाउडर, लाइटर, ग्लासवेयर, पॉट, कुकर, चूल्हा और प्रिंटर भी सस्ते हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें- बजट 2020: पहले से ही भरे हैं गोदाम, जब तक नये बनेंगे तब तक धान, गेहूं कहां रखेंगे ?


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.