सरकार संसद में हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार: सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा

सरकार संसद में हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार: सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा

संसद का बजट सत्र बिना किसी हंगामे के सुचारु रूप से चले इसके लिए 30 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक सर्वदलीय बैठक हुई। वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए हुई इस बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार संसद में किसानों समेत हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है।

सर्वदलीय बैठक बाद केंद्रीय कोयला मंत्री कोयला और खान मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस बैठक की कार्यवाही के बारे में पत्रकारों को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनैतिक दलों से कहा कि उनकी सरकार प्रदर्शनकारी किसानों की ओर से उठाये गये मुद्दों का बातचीत के जरिए समाधान निकालने का निरंतर प्रयास कर रही है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि तीनों कृषि क़ानूनों को लेकर केंद्र सरकार ने जो प्रस्ताव किसानों को दिया था, वे उस पर अब भी कायम हैं।

उन्होंने विभिन्न पार्टियों के नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर प्रदर्शनकारी किसानों से सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी पर हैं।

प्रह्लाद जोशी ने यह भी बताया कि लगभग सभी राजनैतिक पार्टियों ने बैठक में हिस्सा लिया। विपक्ष ने मांग की है कि लोकसभा में बिल के अलावा चर्चा हो और सरकार इसके लिए सहमत है। विपक्ष ने किसानों के मुद्दे पर भी चर्चा की मांग की है इसके लिए भी हम सहमत हैं। इस बैठक में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद, लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय, शिरोमणि अकाली दल के नेता बलविंदर सिंह भूंदड़, शिवसेना के विनायक राउत समेत कई विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए।

संसद का बजट सत्र शुक्रवार 29 जनवरी से शुरू हो गया है और सोमवार एक फरवरी को आम बजट (Union Budget 2021) पेश किया जाएगा। बजट सत्र के पहले ही दिन कई विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार किया था और संसद परिसर में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था।

सितंबर में पास हुए कृषि क़ानूनों का किसान शुरू से ही विरोध कर रहे हैं। पिछले दो महीने से हज़ारों किसान दिल्ली और उत्तर प्रदेश की सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री मोदी ने की टीकाकरण अभियान की शुरुआत, देशवाशियों को दिया नया नारा – दवाई भी, कड़ाई भी, पढ़िए पीएम मोदी के भाषण से जुड़ी 10 बड़ी बातें

किसान आंदोलन को लेकर पीएम मोदी के आरोपों और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के खुले पत्रों के जवाब में किसान संगठनों का खुला जवाब


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.