थोक महंगाई दर दो साल के रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर पर, घटकर हुआ 2.02 प्रतिशत

थोक महंगाई दर दो साल के रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर पर, घटकर हुआ 2.02 प्रतिशत

लखनऊ। जून में थोक महंगई दर घटकर पिछले दो साल के रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर पर आ गई। सब्जियों, पेट्रोलियम उत्पादों और बिजली से जुड़े सामानों की कीमतों में कमी के कारण थोक महंगाई दर में लगातार दूसरे महीने गिरावट दर्ज की गई। थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित महंगाई दर मई में 2.45 प्रतिशत रही थी। जबकि जून में यह घटकर 2.02 प्रतिशत पर आ गई। इससे पहले जुलाई, 2017 में यह 1.88 फीसदी पर थी।

सांख्यिकी विभाग के अनुसार जून 2018 में यह आंकड़ा 5.68 प्रतिशत पर रहा था। खाद्य वस्तुओं की थोक महंगाई दर मामूली कमी के साथ जून में 6.98 प्रतिशत के स्तर पर रही, जो मई में 6.99 प्रतिशत पर थी।

सब्जियों की महंगाई दर पिछले महीने घटकर 24.76 प्रतिशत पर रही, जो मई में 33.15 प्रतिशत पर थी। आलू के थोक मूल्य जून में 24.27 प्रतिशत घटे, जबकि मई में आलू की महंगाई दर शून्य से 23.36 प्रतिशत नीचे रही थी। हालांकि, प्याज की कीमतों में इजाफा जारी है और जून में इसकी महंगाई दर 16.63 प्रतिशत के स्तर पर रही।

मई में प्याज की महंगाई दर 15.89 प्रतिशत पर रही थी। दूसरी ओर, अप्रैल की डब्ल्यूपीआई महंगाई दर को संशोधित कर 3.24 प्रतिशत कर दिया गया है जो अस्थायी तौर पर 3.07 प्रतिशत पर थी।

यह भी पढ़ें- गांवों में महंगाई घटने से देश की महंगाई दर में आई कमी- आर्थिक समीक्षा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top