मरीजों ने सीएमओ से कहा ‘साहब नहीं मिलता सही खाना’ 

मरीजों ने सीएमओ से कहा ‘साहब नहीं मिलता सही खाना’ मरीजों नहीं मिल रहा मानक के अनुसार खाना

लखनऊ। रविवार सुबह लखनऊ मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ जीएस बाजपेई ने मोहनलालगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया, जहाँ उन्हें कई खामियां मिली। कहीं मरीजों को मानक के अनुसार नाश्ता नहीं दिया जा रहा है तो कहीं खाना। मरीजों ने इसकी शिकायत भी मुख्य चिकित्सा अधिकारी की, कि हमें दूषित खाद्य पदार्थ दिए जा रहे है।

रविवार सुबह लगभग नौ बजे के करीब डॉ जीएस बाजपेई मोहनलालगंज स्वास्थ्य केंद्र पहुंचें जहाँ पर उन्हें कई कमियां मिली। स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों को सिर्फ 200 एमएल दूध और ब्रेड दिया जा रहा था, जबकि मानक के अनुसार 500 एमएल दूध, ब्रेड और मख्खन मिलना होता होता है। इसके अलावा स्वास्थ्य केंद्र में काफी गंदगी भी मिले जिस पर सीएमओ ने स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षकों को फटकार लगाई और कार्य में सुधार लेन की बात कही।

ये भी पढ़े- स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला बड़ा कैंसर है, पुरुष भी नहीं है इससे अछूते

इसके बाद सीएमओ ने गोसाईंगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दौरा किया। स्वास्थ्य केंद्र में भोजन के मानक के अनुसार में उन्हें कटौती देखने को मिली। उन्हें वहां यह भी पता चला कि भोजन में सब्जी मिलती ही नहीं है जबकि मानक में सब्जी दिए जाने का जिक्र है। सीएमओ ने जानकारी के अनुसार दोनों स्वास्थ्य केंद्रों के खिलाफ कार्रवाई के लिए जल्द ही शासन को लिखा जाएगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ जीएस बाजपेई ने बताया, “इन सब चीजों पर अस्पताल को नजर रखनी चाहिए थी जो भी कमियां पाई गई हैं उनमें जो लोग भी शामिल हैं उन पर उचित कार्यवाई की जाएगी।”

ये है मानक

क्या है मानक

सुबह के नाश्ते में ब्रेड, मख्खन और दूध/अंडा/फल

दोपहर के खाने में रोटी, चावल और दाल/सब्जी और सलाद/पापड़

रात के खाने में रोटी, चावल, दल/सब्जी और सलाद/पापड़

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top