कुंबले के इस्तीफ़े के बाद इन नामों की बढ़ी चर्चा, ये हैं कोहली की पसंद

कुंबले के इस्तीफ़े के बाद इन नामों की बढ़ी चर्चा, ये हैं कोहली की पसंदपूर्व कोच अनिल कुंबले के साथ कप्तान विराट कोहली।

नई दिल्ली । कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के बीच चलती अनबन का नतीजा कल अनिल कुंबले के इस्तीफ़े के रूप में बाहर निकला। 23 जून को भारतीय टीम वेस्ट इंडीज़ से चुनौती लेने को तैयार है, लेकिन कोच कौन होगा, इस पर फिर से मंथन शुरू हो गया है।

कोच अनिल कुंबले इस्तीफ़े के बाद भारतीय टीम को कोच देने की ज़िम्मेदारी सीएसी पर है। सचिन तेंदुलकर, सौरव गाँगुली और वीवीएस लक्ष्मण की तीन सदस्यीय कमेटी किसी एक शख़्स को चुनती है, या फिर पिछली बार की तरह अपने फैसले से चौंकाती है, ये देखना दिलचस्प होगा।

ये भी पढ़ें : अनिल कुंबले ने दिया इस्तीफा, कोच बिना वेस्टइंडीज गई टीम इंडिया

कौन है कप्तान कोहली की पसन्द

कप्तान विराट कोहली की पसन्द में रवि शास्त्री का नाम बताया जा रहा है। कुंबले के चयन से विराट नाराज़ थे और रवि शास्त्री को कोच के रूप में चाहते थे। 23 मई को चैंपियंस ट्रॉफी के लिये रवाना होने से पहले कप्तान विराट कोहली ने सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण से मिलकर रवि शास्त्री के बारे में विचार करने की बात रखी थी। रवि शास्त्री भी कप्तान कोहली की जम कर तारीफ़ करते रहते हैं।

क्या है बीसीसीआई की इच्छा

कप्तान विराट कोहली से अलग बीसीसीआई की पसन्द भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी, अंडर 19 और भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ हैं। बीसीसीआई ने अनिल कुंबले के चयन के वक्त द्रविड़ से कोच बनने को लेकर चर्चा की थी, लेकिन द्रविड़ ने इसे अस्वीकार कर दिया था।

ये भी पढ़ें : अनोखे अंदाज में सहवाग ने किया कोच पद के लिए आवेदन, 2 लाइन का भेजा सीवी

किन-किन उम्मीदवारों की है चर्चा

1. वीरेन्द्र सहवाग- अपने संन्यास के बाद ट्विटर की पिच पर चौके छक्के लगाने वाले वीरेन्द्र सहवाग का नाम सबसे आगे चल रहा है। वीरेन्द्र सहवाग को कोचिंग का कोई भी अनुभव नहीं है, लेकिन कुंबले के कोच बनने से पहले उनके पास भी कोई अनुभव नहीं था।

2. टॉम मूडी- श्रीलंका के पूर्व कोच टॉम मूडी भारतीय टीम के कोच पद के लिये पिछले कई सालों से आवेदन कर रहे हैं। उनका मिज़ाज़ पूर्व कप्तान गैरी कर्स्टन से काफी मिलता जुलता है। साल 2005 में उनके आवेदन के बाद यह पद गैरी कर्स्टन को, 2016 में कुंबले को सौंपा जा चुका है, जबकि टॉम मूडी हर साल पीछे रह जाते हैं। मूडी ने कोच के रूप में श्रीलंका को 2007 में विश्व कप फाइनल में व 2016 में सनराइज़र्स हैदराबाद को आईपीएल का खिताब दिला चुके हैं।

ये भी पढ़ें : चैंपियंस ट्रॉफी में भारत की हार पर ऐडम गिलग्रिस्ट ने दी है विराट को सलाह

3. रिचर्ड पायबस- पाकिस्तान को 1999 में वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुँचाने वाले रिचर्ड पायबस के पास कोचिंग का बेहतरीन अनुभव है। रिचर्ड पायबस ने पाकिस्तान के साथ अन्य टीमों को कोचिंग देने का काफी लम्बा अनुभव है। उन्हें आला दर्जे का रणनीतिकार माना जाता है।

4. लालाचन्द राजपूत- पिछले कई समय से लालाचंद राजपूत कोचिंग के क्षेत्र में सक्रिय हैं। लालाचंद राजपूत टीम इंडिया को 2007 में तत्कालीन कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की अगुवाई में टी-20 का वर्ल्ड कप जिता चुके हैं। राजपूत को इसके अलावा अंडर 19 और इंडिया ए को कोचिंग देने का भी अनुभव है।

5. डोडा गणेश- भारत के लिये चार टेस्ट मैच और एक वनडे खेल चुके डोडा गणेश के पास गोवा क्रिकेट टीम को 2012 से 2016 तक कोचिंग देने का अनुभव है। लेकिन डोडा के अलावा अन्य उम्मीदवारों का नाम आने से उनके कोच बनने की संभावना कम ही नज़र आ रही है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top