Top

क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालीफाइंग-2019: पहली बार वेस्टइंडीज खेलेगा क्वालीफाइंग मैच

Imran KhanImran Khan   3 March 2018 6:04 PM GMT

क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालीफाइंग-2019: पहली बार वेस्टइंडीज खेलेगा क्वालीफाइंग मैचफोटो साभार: इंटरनेट

क्रिकेट की शुुरुआत जरूर इंग्लैंड से हुई पर दबदबा वेस्टइंडीज टीम ने बनाए रखा। 1975 में ऑस्ट्रेलिया और 1979 में इंग्लैंड को हराकर वेस्टइंडीज दो बार वर्ल्ड चैम्पियन भी बनी।

वेस्टइंडीज की तेज धार गेंदबाजी के आगे बड़े-बड़े बल्लेबाजों के पसीने छूट जाते थे, पर अब पहली बार वेस्टइंडीज को क्वालीफाइंग मैच खेलना पड़ रहा है। इंग्लैंड में 2019 में होने वाले 12वें वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप का क्वालीफायर टूर्नामेंट जिम्बाब्वे में 4 मार्च से खेला जाएगा। ये पहला मौका है जब पूर्व वर्ल्ड चैम्पियन वेस्टइंडीज की टीम वर्ल्ड कप के लिए डायरेक्ट क्वालिफाई नहीं कर सकी। फाइनल में पहुंचने वाली दोनों टीमें वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई कर जाएंगी। और इसके लिए उसे क्वालिफायर टूर्नामेंट खेलना होगा।

वेस्टइंडीज ने टूर्नामेंट में जेसन होल्डर की कप्तानी में अपनी सबसे मजबूत टीम उतारी है। हालांकि हाल-फिलहाल उसका प्रदर्शन जिस तरह डावांडोल रहा है, यह कहना मुश्किल है कि वह वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई कर पाएगी या नहीं।

क्रिस गेल पर रहेगी नज़र

वेस्टइंडीज के क्रिस गेल इस टूर्नामेंट में भाग ले रहे खिलाड़ियों में सबसे सफल रहे हैं। क्रिस गेल ने अब तक 275 वनडे खेले हैं। जिसमें उन्होंने 37.23 के औसत से 9420 रन बनाए हैं। गेल ने वनडे में अब तक 22 शतक व 48 अर्धशतक लगाएं हैं साथ ही 163 विकेट भी झटके हैं। वनडे हो या टी-20 गेल धाकड़ बल्लेबाजी के रूप में जाने जाते हैं। गेल के खेल से हर टीम वाकिफ है। इस टूर्नामेंट में वेस्टइंडीज की राह आसान नहीं लग रही। वेस्टइंडीज की ओर से क्रिस गेल और मार्लन सैमुअल्स जैसे कई बड‍़े नाम रिकॉर्ड बना सकते हैं। गेल वनडे में डबल सेन्चुरी लगा चुके हैं।

10 टीमें ले रहीं भाग

वेस्टइंडीज, आयरलैंड, नीदरलैंड, यूएई, पापुआ न्यू गिनी, जिम्बाब्वे, नेपाल, अफगानिस्तान, स्कॉटलैंड, हॉन्गकॉन्ग

ग्रुप-ए

विंडीज, आयरलैंड, नीदरलैंड, यूएई और पापुआ न्यू गिनी

ग्रुप-बी

जिम्बाब्वे, नेपाल, अफगानिस्तान, स्कॉटलैंड और हॉन्गकॉन्ग। ग्रुप चरण में सभी टीमें लीग मैच खेलेंगी।

छह टीमें खेलेंगी सुपर-6

दोनों ग्रुप से टॉप 3-3 यानी, कुल 6 टीमें सुपर सिक्स राउंड में प्रवेश करेंगी। टॉप-6 में नहीं आने वाली टीमों के बीच भी स्थान निर्धारण के मुकाबले होंगे। ये टीमें टीमें 7-10 स्थान के लिए खेलेगी। सुपर सिक्स के बाद टॉप दो टीमें फाइनल में प्रवेश कर जाएंगी। ये दो टीमें वर्ल्ड कप खेलेंगी।

1992 के बाद सबसे कम टीमें खेलेंगी वर्ल्ड कप

वर्ल्डकप 1992 के बाद यह पहला मौका है, जब वर्ल्ड कप में इतनी कम टीमें होंगी। 1992 में ऑस्ट्रेलिया में हुए वर्ल्ड कप में 9 टीमों ने हिस्सा लिया था। इसके बाद हुए छह वर्ल्ड कप में 12, 14 या 16 टीमें खेलीं। 2019 वर्ल्ड कप के लिए आईसीसी ने टीमों की संख्या घटा दी। ऐसा एकतरफा मुकाबलों से बचने के लिए किया गया।

ये हैं टॉप टीमें

इंग्लैंड ने मेजबान होने के नाते क्वालीफाई किया। वहीं आईसीसी रैंकिंग की टॉप-7 टीमों भारत, ऑस्ट्रेलिया, द. अफ्रीका, न्यूजीलैंड, श्रीलंका, पाकिस्तान और बांग्लादेश को डायरेक्ट एंट्री मिली। आखिरी दो पोजिशन के लिए क्वालिफाइंग टूर्नामेंट हो रहा है।

सभी टीमों को है वनडे की मान्यता

इस क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के सभी मैचों को वनडे इंटरनेशनल की मान्यता हासिल है। यानी इसमें बने रिकॉर्ड काउंट होंगे।

चार टीमों को मिलेगा चार साल के लिए वनडे स्टेटस

पहला मैच 4 मार्च को हरारे में खेला जाएगा। फाइनल 25 मार्च को खेला जाएगा। कुल 34 मैच खेले जाएंगे इस टूर्नामेंट में। टूर्नामेंट के बाद नीदरलैंड और टॉप-3 टीमों को 2022 तक वनडे इंटरनेशनल खेलने का स्टेटस मिलेगा। नीदरलैंड को आईसीसी चैम्पियनशिप जीतने के कारण वनडे का दर्जा मिल चुका है। 10 में से छह टीमें इससे पहले कभी न कभी वर्ल्ड कप खेल चुकी हैं।

बांग्लादेश ने किया डायरेक्ट क्वालीफाई

वर्ल्ड कप क्वालीफायर टूर्नामेंट का आयोजन पहले बांग्लादेश में किया जाना था। आईसीसी को उम्मीद थी कि बांग्लादेश डायरेक्ट क्वालीफाई नहीं कर पाएगा। हालांकि इस एशियाई देश ने टॉप-8 में रहते हुए वर्ल्ड कप में डाइरेक्ट एंट्री हासिल की। फिर जिम्बाब्वे को मेजबानी मिली।

अफगानिस्तान को विश्व कप में जगह दिलान ही मकसद: सिमंस

अफगािनस्तन टीम के कोच फिल सिमंस ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कल से जिम्बाब्वे में शुरू हो रहे 10 टीमों के क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में उनका इरादा अफगानस्तिान को 2019 विश्व कप में जगह दिलाना है न िक वह अपनी पूर्व टीम वेस्टइंडीज से बदला लेने के लक्ष्य के साथ नहीं उतर रहे। सिमंस पिछले साल दिसंबर में अफगानस्तिान से जुड़े और उनका लक्ष्य हाल में टेस्ट क्रिकेट खेलने का दर्जा हासिल करने वाली इस टीम को अगले साल इंग्लैंड एवं वेल्स में होने वाले लगातार दूसरे वश्वि कप में जगह दिलाना है। वेस्टइंडीज की टीम के बारे में काफी अंदरूनी जानकारी रखने वाले सिमंस ने कहा, “मैं अपनी टीम के ऊपर प्रबल दावेदार का ठप्पा नहीं लगा रहा। हम यहां क्रिकेट खेलने आए हैं, हमें अच्छा क्रिकेट खेलने और यह टूर्नामेंट जीतने की जरूरत है।” वेस्टइंडीज के अलावा सिमंस मेजबान जिंबाब्वे को भी कोचिंग दे चुके हैं जबकि आयरलैंड के साथ उनका आठ साल का कार्यकाल काफी सफल रहा जिसमें टीम ने दो बार वश्वि कप में जगह बनाई।

अफगािनस्तान और आयरलैंड को जल्द मिला है टेस्ट का दर्जा

अपने खेल से क्रिकेट जगत में बहुत तेजी से पैठ बना रहीं अफगािनस्तान और आयरलैंड को टेस्ट का दर्जा भी मिल गया है। ये दोनों टीमें िकसी भी टीम को हराने का माद‍्दा रखती हैं। इस तरह क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में टेस्ट स्टेटस रखने वाली चार टीमें खेल रही हैं। ऐसी दो अन्य टीमें विंडीज और जिम्बाब्वे की हैं। टेस्ट खेलने वाली चार में से दो टीमों का वर्ल्ड कप से बाहर होना तय है। ऐसा आईसीसी वर्ल्ड कप की हिस्ट्री में पहली बार होगा।

यह भी पढ़ें: सीएम के नाम गांवों के बच्चों की चिट‍्ठी : ‘मुख्यमंत्री जी हमें खेल का मैदान दे दीजिए’

नागालैंड में चुनावी मुकाबला टाई की ओर

जानिए देश के किन-किन राज्यों में है बीजेपी और उनके सहयोगियों की सरकार ?

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.